ऐसा करने से मिनटों में चली जाएगी आपकी थकान

- in हेल्थ

आज की दुनिया में इस भागदौड़ भरी में जिंदगी में आम व्यक्ति को तनाव का सामना करना एक आम-सी बात होती है. और इस तनाव से उत्पन्न होने वाली बीमारियां का एक ही इलाज है मालिश. बता दे चीन के सुप्रसिद आश्रमों में मालिश के बड़े-बड़े शिविर लगाये जाते है जहां उस देश के लोग दूर-दूर से आकर इस मालिश का लाभ लेते है, और अपने जीवन को तनाव से मुक्तमयी पाते है. परन्तु हमारे यहाँ इसके महत्व को नहीं समझ पा रहे हैं जिसके कारण लगभग 45 प्रतिशत रोगी मानसिक तनाव से परेशान हैं.ऐसा करने से मिनटों में चली जाएगी आपकी थकान

मालिश से हमारी तनी हुई पेशियां सही दशा में आ जाती हैं, इससे तनाव व शारीरिक दर्द से मुक्ति मिल जाती है. मालिश से थकान तो दूर होती ही है साथ ही रक्त संचार भी बढता है. मालिश की शुरूआत पीठ से करनी चाहिए. क्योंकि पीठ ही शरीर का वह अंग है जो सबसे अधिक तनाव ग्रस्त रहता है. पहले थोडा सा थपथपाते हुए नीचे से ऊपर की ओर तथा बाद में सीना, पीठ, हाथ व टांगों पर मालिश करें. सबसे लास्ट में अत्यन्त सावधानी एवं ध्यान पूर्वक उदर प्रदेश की मालिश करनी चाहिए.

ऎसा ऊताकें को गर्मी पहुंचाने व रक्त संचार को सही करने के लिए किया जाता है. पैरों की मालिश करने के लिए जमीन पर दरी बिछाकर बैठ जाएं तथा सरसों के ऑयल से तलवों पर ऊपर नीचे व अंगूठीों पर ऑयल लगाकर हल्के-हल्के हाथों से मालिश करें. उंगलियों व अंगूठों को भी भली-भाँति मसलें. रोजना सिर पर ऑयल लगाने सेसिर में खुश्की ना होने व स्त्रिग्धता बनी रहने से सिर में दर्द नहीं होता. गंजापन नहीं आता, असमय बाल सफेद नहीं होते और ना ही असमय बाल झडते हैं. सिर की मालिश करते समय या किसी से करवाते समय आंखे बंद और मन को एकाग्र रखना चाहिए.

ग्रीष्मकाल हो तो सिर एवं बालों को ठंडे पानी से धोकर बालों को तौलिये से अच्छी तरह से पोंछ लें. फिर मालिश करें तो सिर में ठंडक और तरावट के आनन्द का अनुभव होगा. सिर की मालिश के लिए चमेली, बादाम या भृंगराज के शुद्ध ऑयलों से हल्के-हल्के रगडते हुए मालिश करें. मांशपेशियों को मसलें व एक-एक पसली की मालिश करें. ह्रदय भाग के ऊपर और छाती के दूसरे भाग पर यानी दोनों वक्ष स्थलों पर गोलाई में हाथ चलाकर मालिश करें. पूरी बॉडी में हाथ-पैर की मालिश करना सर्वाधिक उपयोगी है.

क्योंकि हम अपने कामकाज करने और चलने फिरने में हाथ पैर का दिनभर प्रयोग करते हैं. मालिश करीब 20 मिनट तक करनी चाहिए. साथ ही शरीर के अंगों को थपथपाते हुए ऑयल का गर्दन करें क्योंकि ऎसा करने से ऊतकों में ऊर्जा का संचार होता है. थोडा आराम करने के पश्चात सूखे तौलिए से रगडकर नहाना लेना चाहिए. ऐसा करने से आप तनाव से मुक्ति पाएंगे. लिंगवु होटल, वाटरफ्रंट जो की बिनजिआंग रेड पर स्थित है, यह सभी चीन के जाने मानी मसाज सेंटर है.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

शरीर के हर अंग के लिए फायदेमंद है काली मिर्च, जानें इस्तेमाल करने के तरीके

काली मिर्च को किंग ऑफ स्पाइस के नाम