एसएससी: इन 45 दिनों में ऐसे करें परीक्षा की तैयारी

sss1_23_09_2015हर साल स्टाफ सिलेक्शन कमिशन (एसएससी) कंबाइंड हायर सेकेंड्री लेवल (10+2) एग्जाम कंडक्ट कराता है। यह एग्जाम सेंट्रल गवर्नमेंट डिपार्टमेंट्स में लोअर डिवीजन क्लर्क्स (एलडीसी) और डाटा एंट्री ऑपरेटर्स के रिक्रूटमेंट के लिए कंडक्ट कराया जाता है। अगर आपने अब तक इस एग्जाम की प्रिपरेशन स्टार्ट नहीं की है तो जानते हैं कैसे आप इस एग्जाम के लिए 45 दिन में तैयार हो सकते हैं। एग्‍जाम 1, 15 और 22 नवंबर, 2015 को संचालित होगी।

हर साल लाखों कैंडिडेट्स एसएससी 10+2 एग्जाम में अपीयर होते हैं लेकिन इस एग्जाम को क्वॉलिफाई वही कर पाते हैं जिनकी प्रिपरेशन अच्‍छी होती है। इस एग्जाम में कैंडिडेट्स का फाइनल सिलेक्‍शन तीन फेज में किया जाता है जिसमें दो रिटेन टेस्ट होते हैं और एक स्किल टेस्ट। पहला रिटेन टेस्ट ऑब्‍जेक्टिव टाइप होता है वहीं दूसरा डिस्क्रिप्टिव टेस्ट होता है। जो कैंडिडेट्स पहला रिटेन टेस्ट क्वॉलिफाई कर लेंगे वही दूसरे में अपीयर हो सकते हैं। आइए जानते हैं एसएससी 10+2 के टीयर 1 एग्जाम की 45 डेज प्रिपरेशन स्ट्रैटेजी के बारे में।

जनरल इंटेलिजेंस

– इस सेक्‍शन में वर्बल और नॉन-वर्बल दोनों तरह के क्वेश्‍चंस शामिल होंगे। इसके सिलेबस को कवर करने के लिए जरूरी है कि हर टॉपिक की प्रॉपर प्रैक्टिस की जाए।

– इस सेक्‍शन में एनालॉगीज, डिसीजन मेकिंग, जजमेंट, विजुअल मेमोरी, सिमेंटिक क्लासिफिकेशन, न्यूमेरिकल ऑपरेशंस जैसे टॉपिक्स की प्रैक्टिस करें।

– रीजनिंग के क्वेश्‍चंस को ध्यान से पढ़ने की हैबिट डेवलप करें क्योंकि इसके क्वेश्‍चंस कैंडिडेट्स को कंफ्यूज कर सकते हैं।

इंग्लिश लैंग्‍वेज

इस सेक्‍शन में इंग्लिश ग्रामर और वोकैबुलरी मेजर रोल प्ले करती है। इस सेक्‍शन की प्रिपरेशन में इन बातों का ध्यान रखें-

– कॉम्प्रिहेंशन की ज्यादा प्रैक्टिस करें क्योंकि इसमें स्कोर करना ईजी होता है। रोज एक कॉम्प्रिहेंशन की प्रैक्टिस जरूर करें।

– इंग्लिश न्यूजपेपर पढ़ने की हैबिट डेवलप करें। इससे आपकी वोकैबुलरी और ग्रामर दोनों इंप्रूव होगी।

– कॉमन एरर, सेंटेंस करेक्‍शन, एंटॉनिम्स, सिनॉनिम्स जैसी एक्सरसाइजेस की प्रैक्टिस जरूर करें। इनके कॉन्सेप्ट्स अगर क्लीयर नहीं हैं तो उन्हें भी क्लीयर करें।

क्‍वाॅन्‍टिटेटिव एप्टिट्यूट

– इस सेक्‍शन में मैथमैटिकल क्वेश्‍चंस पूछे जाते हैं। इस सेक्‍शन की प्रिपरेशन स्टार्ट करने से पहले इसका सिलेबस जरूर चेक करें।

– जिस भी टॉपिक की प्रैक्टिस स्टार्ट करें पहले उसके कॉन्सेप्ट क्लीयर करें और फिर उन क्वेश्चंस को करने की स्पीड इंप्रूव करें।

– सभी टॉपिक्स के बेसिक फॉर्मूले जरूर पढ़ें। जिन टॉपिक्स में शॉर्ट ट्रिक्स का यूज होता है उनकी शॉर्ट ट्रिक्स की प्रैक्टिस करें। बिना शॉर्ट ट्रिक्स के इस सेक्‍शन में मैक्सिमम क्वेश्चन सॉल्व करना मुश्किल हो सकता है।

जनरल अवेयरनेस

इस सेक्‍शन को एसएससी 10+2 में सबसे ज्यादा स्कोरिंग और टाइम सेविंग माना जाता है। जनरल अवेयरनेस में कमांड पाने के लिए-

– इस सेक्‍शन में इंपॉर्टेंट डेज, इंपॉर्टेंट पर्सनालिटीज, अवॉर्ड विनर्स, बुक्स एंड ऑथर्स, स्पोर्ट्स, एब्रीविएशंस जैसे एरियाज पर ज्यादा ध्यान दें।

– पिछले 6 से 7 महीनों में हुए नेशनल और इंटरनेशनल इवेंट्स के बारे में पढ़ें। इसके लिए किसी अच्‍छी जीए मैगजीन या बुक को रिफर करें।

टाइम मैनेजमेंट

एसएससी 10+2 में कैंडिडेट्स को दो घंटे में 200 क्वेश्‍चंस सॉल्व करने होते हैं यानी कि कैंडिडेट्स के पास एक क्वेश्‍चन के लिए एक मिनट से भी कम समय होगा। ऐसे में सही टाइम मैनेजमेंट का होना बहुत इंपॉर्टेंट है।कैंडिडेट्स 15 मिनट में जीए का सेक्‍शन करें, 30 मिनट में इंग्लिश लैंग्वेज, 35 मिनट में क्वॉन्टिटेटिव एप्टिट्यूड और 35 मिनट में जनरल इंटेलिजेंस। इस तरह से टाइम डिवाइड करने से कैंडिडेट्स को रिवीजन के लिए भी पांच मिनट का टाइम मिल जाएगा।

 

 

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button