एतिहासिक कामयाबी पर टीम इंडिया ने लंदन से ठोका सलाम

- in खेल

नई दिल्ली. क्रिकेट को धर्म मानने वाले देश में पिछले दो दिनों से एक नाम सुर्खियों में है और वो नाम है हिमा दास का. हिमा दास ने ट्रैक एंड फील्ड में भारत के 70 साल पुराने इतिहास को बदलकर रख दिया है. फर्राटा दौड़ में अब तक आपने पीटी उषा और मिल्खा सिंह जैसे नाम को सिर्फ सुना होगा पर ये वो स्प्रिंटर है.

जिसने भारत के लिए सोने का तमगा हासिल कर अपना नाम भारतीय खेलों के इतिहास में दर्ज कराया है. हिमा असम के गरीब किसान की बेटी है लेकिन अब वो अपनी प्रतिभा के दम पर भारत की बेटी बन चुकी है. हिमा ने वर्ल्ड जूनियर एथलेटिक्स चैम्पियनशिप में 51.46 सेकेंड का समय निकालते हुए न सिर्फ अमेरिकी चैंपियन को धूल चटाई बल्कि ट्रैक इवेंट में भारत के लिए पहली गोल्डन कामयाबी भी हासिल की. हिमा की इस जोरदार कामयाबी पर बधाईयों का सिलसिला जारी है. और, अब इसी कड़ी में विराट एंड कंपनी का नाम भी जुड़ गया है.

टीम इंडिया की ‘सलामी’

टीम इंडिया इस वक्त इंग्लैंड के खिलाफ उसी की सरजमीं पर वनडे सीरीज खेलने में बिजी है. लेकिन हिमा के धमाके की गूंज उनके कानों तक पहुंचने से भी नहीं रह पाई. ट्रैक फील्ड पर हिमा की एतिहासिक गोल्डन कामयाबी को लंदन से टीम इंडिया के खिलाड़ियों ने भी खूब सलाम किया है.

भारतीय क्रिकेट के दिग्गज सितारों से मिले इस बधाई संदेश को पाकर हिमा भी फूले नहीं समा रही. लिहाजा, उसने भी वीडियो मैसेज के जरिए उन्हें धन्यवाद कहने और ये वादा करने में देर नहीं कि उसके दमदार परफॉर्मेन्स का सिलसिला आगे भी बरकरार रहेगा.

इस वीडियो मैसेज में हिमा ने भारतीय क्रिकेटरों को बधाई देने के अलावा उन सभी का शुक्रिया अदा किया है जिन्होंने उसकी कामयाबी को सलाम किया है. जूनियर वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप में हिमा ने जिस कॉन्फिडेंस का परिचय दिया है उससे साफ है कि वो इतने से ही खुश होने वालों में नहीं है. बल्कि अभी तो उसका सफर शुरू हुआ है और इसमें कोई शक नहीं कि अब उसकी मंजिल भारत के लिए सीनियर लेवल पर सोना जीतना है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

पैदल चाल प्रतियोगिता 2 अक्तूबर को

राज्यमंत्री स्वाती सिंह सुबह 7 बजे करेंगी पैदल