एक लाख साल में पहली बार ऐसा क्या होगा आर्कटिक में ?

एजेंसी/ 05_06_2016-5arcticकैम्बिज। एक जाने माने वैज्ञानिक का दावा है कि पिछले एक साल में जो नहीं हुआ अब वह हो सकता है। वैज्ञानिक का कहना है कि इस साल या फिर अगले साल आर्कटिक समुद्र की बर्फ खत्म हो जाएगी। अमेरिका के नेशनल स्नो एंड आइस डेटा सेंटर की तरफ से ली गई सैटेलाइट तस्वीरों के जरिए ये बात सामने आयी है कि इस साल 1 जून तक आर्कटिक समुद्र के केवल 11.1 मिलियन स्क्वेयर किलोमीटर इलाके में ही बर्फ बची है। पिछले 30 साल का औसत 12.7 मिलियन स्क्वेयर किलोमीटर था।

1.5 मिलियन स्क्वेयर किलोमीटर के इस अंतर को ऐसे भी समझा जा सकता है कि ये 1.5 मिलियन स्क्वेयर किलोमीटर का इलाका पूरे किंगडम को 6 बार जोड़ने के बराबर है। कैम्बिज यूनिवर्सिटी के पोलर ओसेन फिजिक्स ग्रुप के प्रमुख प्रोफेसर पीटर वडहम्स ने द इंडिपेंडेंट अखबार को बताया कि ताज़ा डेटा से उनके इस अनुमान को पुष्टि मिली है।

पीटर वडहम्स ने बताया कि उनका अनुमान है कि आर्कटिका की बर्फ गायब हो सकती है। इस साल सितंबर तक इसके पास 10 मिलियन स्क्वेयर किलोमीटर के इलाके से भी कम बर्फ रह जाएगी।

ऐसा माना जा रहा है कि 1 लाख से 1 लाख 20 हजार साल पहले आखिरी बार आर्कटिक में बर्फ खत्म हुई थी। ध्रुवीय इलाके में तेज़ी से बढ़ते तापमान को इसके पीछे कारण बताया जा रहा है। माना जा रहा है कि इसी वजह से ब्रिटेन में बाढ़ आ रही है और अमेरिका में भी बेमौसम तूफान आते हैं।

 

 

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button