एक बार फिर से ऑस्ट्रेलिया में भारतीय ड्राइवर पर नस्लीय कमेंट के साथ हुआ बहुत बड़ा हमला

मेलबर्न : आस्ट्रेलिया में भारतीयों पर कई बार नस्लीय टिपण्णी और उनके साथ मारपीट की घटनाएं सामने आयीं हैं. ऐसा ही एक और मामला अभी अभी सामने आया है जिसमे भारतीय ड्राइवर प्रदीप सिंह पर ऑस्ट्रेलिया के एक लोकल कपल ने नस्लीय कमेंट किये और उसके सांथ मारपीट भी की. मामला शनिवार रात का है जब प्रदीप के सांथ मारपीट की गयी. प्रदीप को इलाज़ के लिए रॉयल होबर्ट हॉस्पिटल में दाखिल कराया गया है. पुलिस के अनुसार मारपीट करने वाले जोड़े को हिरासत में ले लिया गया है.

एक बार फिर से ऑस्ट्रेलिया में भारतीय ड्राइवर पर नस्लीय कमेंट के साथ हुआ बहुत बड़ा हमला

ये भी पढ़े: मैनचेस्टर में बड़ा आतंकवादी हमला, 19 मरे, 50 से ज्यादा घायल

जानकारी के अनुसार प्रदीप (25 साल) पढाई के लिए ऑस्ट्रेलिया गए हुए हैं और वहां पढ़ाई के सांथ – सांथ पार्ट टाइम कैब चलते हैं. प्रदीप ने एक अंग्रेजी अखबार से बातचीत के दौरान कहा कि – ” मैं शनिवार रात 10.30 बजे कपल को रेस्टोरेंट से लेने गया था। ड्राइविंग के दौरान महिला को उल्टियां आ रही थीं। वह बार-बार दरवाजा खोल रही थी। मैंने उसे कैब से नीचे आने के लिए कहा। जब वह नहीं मानी तो मैंने कहा कि अगर कैब में गंदगी हुई आपको सफाई के पैसे देने होंगे। इस पर महिला ने कहा कि वह सफाई के पैसे तो दूर किराया भी नहीं देगी। कपल कार से नीचे उतरा और मुझ पर नस्लीय कमेंट्स किए, गालियां दीं। कार में तोड़फोड़ करने लगे।”

आगे बताते हुए प्रदीप बोले – ”मैंने उनकी हरकतों का वीडियो बनाने की कोशिश की। महिला ने मुझे ब्लडी इंडियन कहा। उसके साथी ने मुझे कई बार लात-घूंसे मारे। कहा कि तुम इंडियन्स इसी लायक हो। मैं अब आगे टैक्सी नहीं चलाना चाहता हूं क्योंकि यह बेहद खतरनाक है।”

प्रदीप ने पुलिस पर लगाया लापरवाही का आरोप

प्रदीप ने ऑस्ट्रेलियाई पुलिस पर आरोप लगते हुए कहा कि उसके सांथ हुई मारपीट की घटना पर पुलिस बिलकुल भी गंभीर नहीं है. पुलिस के द्वारा घटना स्थल के CCTV फुटेज तक चेक नहीं किये गए. प्रदीप के सांथ हुई इस घटना को एक चश्मदीद ने देखा और सिर्फ देखा ही नहीं बल्कि उसका वीडियो भी बना लिया. चश्मदीद ने पुलिस को यह वीडियो सौंप दिया.

इस घटना की जांच में जुटे इंस्पेक्टर इयान विश-विल्सन ने कहा कि – ”कपल को अरेस्ट कर लिया है। उन्हें 26 जून को होबर्ट कोर्ट में पेश किया जाएगा। उनका कहना है कि तबीयत बिगड़ने पर ड्राइवर ने उन्हें कैब से उतार दिया। उनमें किराये को लेकर भी कहासुनी हुई।” आगे बताते हुए इयान बोले – ”कपल पर भारतीय ड्राइवर के लिए नस्लीय कमेंट करने का आरोप है। लेकिन ऐसा नहीं लगता कि यह मामला सिर्फ नस्लीय भेदभाव को लेकर शुरू हुआ।”

इससे पहले 26 मार्च को भी केरल के रहने वाले ली मैक्स जॉय के सांथ तस्मानिया स्टेट के एक रेस्टोरेंट में कुछ लोगों ने मारपीट की थी। मारपीट करने वालों में एक लड़की भी शामिल थी। जॉय ऑस्ट्रेलिया में नर्सिंग कोर्स कर रहे हैं और पार्ट टाइम ड्राइवर भी हैं। तब जॉय ने बताया था कि हमलावरों ने कहा- ”यू ब्लडी ब्लैक इंडियन्स और मुझ पर हमला किया।”

इतना ही नहीं 20 मार्च को टॉमी कलाथूर मैथ्यू को मेलबर्न के एक चर्च में एक शख्श ने गले में चाक़ू मारा था. इस बारदात को अंजाम देने से पहले वो शख्श मैथ्यू को बोला था कि तुम भारतीय हो और यहाँ प्रार्थना करने का तुम्हे कोई हक़ नहीं है.

You may also like

जॉनसन बेबी पाउडर से हुआ कैंसर, कंपनी पर लगा अरबों डॉलर का जुर्माना

नई दिल्ली: ज्यादातर लोग अपनी जरूरतों को लेकर लापरवाह