ईंधन की बढ़ती कीमतों के चलते घाटे की शिकायत कर रहे उबर कैब के ड्राइवरों की फिर से हड़ताल पर जाने की चेतावनी के बाद कंपनी ने किराये की व्यवस्था में परिवर्तन करने का दावा किया है. कैब सेवा देने वाली कंपनी उबर इंडिया ने बताया कि उसकी ईंधन मूल्य से जुड़ी नई किराया व्यवस्था से उसके ड्राइवरों की सकल आय एक रुपये प्रति किलोमीटर तक बढ़ जाएगी. कंपनी का कहना है कि इससे ड्राइवरों को आठ घंटे तक ड्राइविंग के आधार पर मासिक 2,200 रुपये की अतिरिक्त आमदनी होगी.

राष्ट्रीय ईंधन मूल्य सूचकांक

करोड़ों रूपए के घोटाले में घिरी है नामी बैंक की ये पूर्व CEO

18-19 नवंबर को उबर के ड्राइवरों ने किराये व्यवस्था में सुधार न होने के चलते हड़ताल पर जाने की चेतावनी दी थी अभी पिछले माह ही कंपनी की किराया पॉलिसी व बढ़ती ईंधन कीमतों से नाराज उबर के ड्राइवरों ने 12 दिन तक हड़ताल की थी. एक दिन पहले कंपनी ने अपने ड्राइवर भागीदारों को आश्वस्त किया था कि ईंधन कीमतों में बढ़ोतरी से उनकी शुद्ध आमदनी पर प्रभाव नहीं पड़ेगा. कंपनी ने कहा था कि राष्ट्रीय ईंधन मूल्य सूचकांक शुरू कर रही है. इससे उनकी आमदनी का ईंधन कीमतों में बदलाव से जुड़ी होगी. कुछ दिन पहले ही ड्राइवरों ने 18 और 19 नवंबर को हड़ताल की चेतावनी दी थी. अभी पिछले महीने ही उबर व ओला कैब के ड्राइवरों ने 12 दिन की हड़ताल की थी जिसके चलते लोगों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ा था, कंपनी के किराया व्यवस्था में परिवर्तन के आश्वासन के बाद ड्राइवरों ने हड़ताल वापस ली थी. ( इनपुट एजेंसी)