उप्र विधानसभा सत्र, शोक संवेदना के बाद कार्यवाही स्थगित

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधानसभा का मानसूत्र सत्र गुरुवार को शुरु हो गया। पहले दिन मध्य प्रदेश के राज्यपाल रहे लालजी टंडन, योगी सरकार के दो मंत्री और सदन के वर्तमान व पूर्व सदस्यों को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। सदन ने गालवान घाटी के शहीद जवानों और कोरोना योद्धाओं को भी श्रद्धांजलि दी गई। इसके बाद सदन की कार्यवाही को शुक्रवार पूर्वाह्न 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया। 

पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार विधानसभा की कार्यवाही पूर्वाह्न ठीक 11 बजे वन्दे मातरम से प्रारम्भ हुई। इसके बाद अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित की अनुमति से नेता सदन और प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वर्तमान सदन के सदस्य और सरकार के मंत्री रहे चेतन चौहान व कमल रानी वरुण और विधायक वीरेंद्र सिंह सिरोही और  पारस नाथ यादव के निधन पर शोक व्यक्त किया। 

मुख्यमंत्री योगी ने विधानसभा के सदस्य रहे व मध्यप्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन समेत सदन के 20 पूर्व सदस्यों को भी उनके निधन पर श्रद्धांजलि दी। मुख्यमंत्री ने इस दौरान चीन से संघर्ष में गलवान घाटी में शहीद हुए भारतीय सैनिकों और कोरोना काल में लोगों की सुरक्षा में अपने प्राणों की आहुति देने वाले कोरोना योद्धाओं के प्रति भी शोक संवेदना व्यक्त की। 

इसके बाद समाजवादी पार्टी (सपा) के विधायकों की तरफ से ललई यादव, बसपा दल के नेता लालजी वर्मा, कांग्रेस विधायक दल की नेता आराधना मिश्रा मोना, सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के ओमप्रकाश राजभर और अपना दल के नील रतन पटेल ने भी सभी दिवंगतों के प्रति शोक संवेदना व्यक्त करते हुए अपने-अपने दल की तरफ से श्रद्धांजलि अर्पित की। 

विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने भी श्रद्धांजलि देते हुए सभी दिवंगत नेताओं एवं अन्य को याद किया। उन्होंने सदस्यों को आश्वस्त भी किया कि सदन की तरफ से सभी दिवंगतों के परिजनों के पास शोक संवेदना भेजी जाएगी। अंत में शोक संवेदना व्यक्त करने के लिए दो मिनट का मौन धारण किया गया। फिर विधानसभा अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही को शुक्रवार 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी। 

उधर, विधान परिषद में भी आज पहले दिन शोक संवेदना व्यक्त करने के बाद सदन की कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित कर दी गई। उप्र विधान मंडल का आज प्रारम्भ हुआ मानसून सत्र 24 अगस्त तक चलेगा। इस दौरान 22 और 23 अगस्त को शनिवार और रविवार के चलते सदन की कार्यवाही स्थगित रहेगी।

कोरोना संक्रमण के कारण इस बार का सत्र कुछ अलग ढंग से चल रहा है। सदन में सदस्यों को एक सीट छोड़कर बैठाया जा रहा है। सभी के लिए फेस मास्क और कोरोना के अन्य प्रोटोकाल आवश्यक किए गए हैं। सत्र प्रारम्भ होने से पहले सदस्यों के अलावा विधानसभा कर्मियों और सुरक्षा में लगे लोगों की कोरोना जांच कराई गई। 

सत्र प्रारम्भ होने से पहले समाजवादी पार्टी के विधायकों ने विधान भवन स्थित चैधरी चरण सिंह की प्रतिमा के पास योगी सरकार की नीतियों के खिलाफ धरना प्रदर्शन किया। इसके अलावा सपा के विधायकों ने विधानसभा के प्रवेश द्वार पर प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह का घेराव भी किया। विधायकों ने मंत्री से कोरोना को लेकर अपने-अपने क्षेत्रों पुख्ता व्यवस्था की मांग भी की। 

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button