उत्तर प्रदेश : रात दस बजे तक की 17 बड़ी खबरें – एक नजर में

वाराणसी फ्लाईओवर हादसे में मिले 50 लाख का मुआवजा-माले  

लखनऊ। भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माले) के राज्य सचिव सुधाकर यादव के नेतृत्व में पार्टी की एक टीम बीती रात वाराणसी में कैंट स्टेशन के निकट निर्माणाधीन फ्लाईओवर गिरने के मामले में मौके पर पहुंचकर जांच पड़ताल की। बुधवार को जारी बयान में राज्य सचिव ने कहा कि घटना हादसा नहीं, बल्कि मानव निर्मित विपत्ति है जो भ्रष्टाचार और आपराधिक लापरवाही का परिणाम है। उन्होंने कहा कि पुल बनाने में निर्धारित मानकों का घोर उल्लंघन किया गया। निर्माण सामग्री की गुड़वत्ता भी पहली नजर में निम्न स्तर की दिखती है। गर्डर रखने के दौरान रूट डाइवर्जन नहीं किया गया, अन्यथा जानमाल की व्यापक हानि न होती। निर्माण स्थल पर इमरजेंसी की स्थिति में राहत व बचाव के लिए पहले से कोई तैयारी नहीं थी।

उन्होंने कहा कि प्रशासन मौतों की संख्या कम करके बता रहा है। कहा कि पश्चिम बंगाल में हुए एक ऐसे ही मामले में प्रधानमंत्री मोदी ने तब उसे भ्रष्टाचार का भयावह रूप और मौत व मनी का कारोबार बताया था। अब जबकि उनके चुनाव क्षेत्र में ऐसी घटना हुई है, तो उन्हें योगी सरकार का बचाव नहीं करते हुए यही बात बेहिचक स्वीकार करनी चाहिए। साथ ही, विकास दिखाने और वाराणसी को ‘क्योटो’ बनाने की जल्दबाजी में जानमाल व नगरवासियों की सुरक्षा के साथ कोई खिलवाड़ नहीं होनी चाहिये। राज्य सचिव ने मृतकों के परिवारों को पांच के बजाय 50-50 लाख रुपए मुआवजा राशि देने की मांग की। माले के जांच दल में सचिव के अलावा राज्य समिति की सदस्य सरिता पटेल व अन्य नेता शामिल थे।

उधर, भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) उप्र राज्य राज्य सचिव मण्डल ने वाराणसी पुल दुर्घटना में मृतकों के प्रति शोक श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा है कि यह घटना अत्यंत दुखद और हृदय विदारक है। जो कि सरकार व प्रशासनिक अधिकारियों की घोर लापरवाही और भ्रष्टाचार का परिणाम है। यह इस बात से भी सिद्ध होता है कि दुर्घटना होने के काफी देर तक मृतकों और घायलों को कोई सहायता मुहैया नहीं करायी गयी। राज्य सरकार द्वारा अधिकारियों के खिलाफ की गयी कार्यवाही अपर्याप्त है। नेता व अधिकारियों के कमीशनखोरी में लिप्त होने की वजह से ऐसी भयावह घटनायें होती हैं। माकपा राज्य सचिव मण्डल मांग करता है कि इस दुर्घटना की जिम्मेदारी लेते हुए राज्य सरकार के लोक निर्माण मंत्री को तुरन्त इस्तीफा देना चाहिए तथा मृतकों के परिजनों को 20 लाख रूपये तथा गंभीर रूप से घायलों को 10 लाख रूपये आर्थिक सहायता व मुफ्त इलाज की व्यवस्था, मामूली रूप से घायलों को 5 लाख रूपये मुआवजा दिया जाय। जो वाहन क्षतिग्रस्त हुए हैं उनकी मरम्मत करायी जाये व नष्ट हुए वाहनों का समुचित मुआवजा दिया जाय।

उपचुनाव: वामदलों ने दिया सपा व रालोद को समर्थन

लखनऊ । वामपंथी दलों की एक बैठक में कहा गया कि जब से भाजपा की सरकार केन्द्र तथा प्रदेश में काबिज हुई है, जनता पर निरन्तर संकट बढ़ा है। महंगाई, बेरोजगारी, भुखमरी में तेजी से वृद्धि हुई है। कमजोर तबकों तथा दलितांें, अल्पसंख्यकों पर हमले बढ़े हैं। आरएसएस तथा भाजपा संवैधानिक संस्थाओं तथा

लोकतंत्र को नष्ट करने पर तुंली है। कर्नाटक चुनाव परिणामों के आने के बाद इसका दुस्साहस और बढ़ेगा और वह पहले से अधिक जनविरोधी तथा जनतंत्रविरोधी कदम उठायेगी। साम्प्रदायिकता तेजी से बढ़ी है। ऐसी स्थिति में चुनावों में भाजपा को पराजित करना वामदलों का मुख्य लक्ष्य है।

वामदलों ने कैराना लोकसभा तथा नूरपुर विधानसभा उपचुनावों में भाजपा को हराने के लिए क्रमशः लोकदल तथा सपा के उम्मीदवारों का समर्थन करने का निर्णय लिया है। वामदलों ने अपील की है कि जैसे गोरखपुर तथा फूलपुर के उपचुनावों में जनता ने भाजपा को हराने में अपनी एकजुटता का इजहार किया, उसी तरह कैराना और

नूरपुर में भी एकजुट कर घोर जनविरोधी साम्प्रदायिक पार्टी भाजपा को हराने का काम करे। बैठक में भाजपा के राज्य सचिव डा. गिरीश शर्मा, माकपा के राज्य सचिव डा. हीरालाल यादव, भाकपा माले के राज्य सचिव सुधाकर यादव, फारवर्ड ब्लाक के राज्य सचिव एसएन सिंह चैहान ने अपने विचार व्यक्त किये।

breaking news

 

 झूले में करंट से एक बच्चे की मौत, कई झुलसे

शाहजहाँपुर । जिले में एक मेले में लगे झूले में करंट आ जाने के चलते झूला झूल रहे एक दर्जन बच्चे झुलस गए जबकि एक बच्चे की घटनास्थल पर ही मौत हो गई है। जानकारी के अनुसार थाना अंतर्गत फीलनगर गांव में बुधवार को उर्स का मेला लगा हुआ था जिसमें तमाम बच्चे स्प्रिंग जंपिंग वाला झूला झूल रहे थे। इसी दौरान झूले से उछल रहे एक बच्चा ऊपर से गुजरी हाईटेंशन विद्युत लाइन के ढीले तारों से छू गया जिसके चलते पूरे झूले में करंट फैल गया। पुलिस के मुताबिक झूले में करंट फैलने से झूला झूल रहे एक दर्जन बच्चे बुरी तरह से झुलस गए जबकि अयान बेग (12) की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। घायल बच्चों को उनके परिजन मीरानपुर कटरा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र लेकर पहुंचे जहां डॉक्टर ने उन्हें उन्हें सीएससी तिलहर रेफर कर दिया जहां बच्चों का इलाज किया जा रहा है। सभी घायल बच्चे सात से 12 वर्ष की आयु के हैं। वहीं दूसरी और झूले में करंट फैलते ही झूला स्वामी फरार हो गया। अधिकारी घटनास्थल पर पहुंच गए है, गांव में पुलिस तैनात कर दी गई है तथा मृतक बच्चे के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

 अपनी ही सरकार के खिलाफ धरने पर बैठे भाजपा विधायक

बलिया । अपने बयानांे को लेकर कभी सरकार तो कभी पार्टी को असहज करने वाले भारतीय जनता पार्टी के विधायक सुरेन्द्र सिंह अपनी ही सरकार के खिलाफ बुधवार को धरने पर बैठ गए। उन्होंने माध्यमिक शिक्षा विभाग के अधिकारियों के कथित भ्रष्टाचार के विरुद्ध धरना प्रदर्शन किया।

माध्यमिक शिक्षक संघ के तत्वावधान में बलिया जिले के शिक्षकों व कर्मचारियों के वेतन भुगतान न होने को लेकर किये जा रहे आंदोलन में बैरिया के भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह कूद पड़े। उन्होंने यहां जिला मुख्यालय पर कलेक्ट्रेट में आयोजित शिक्षक संघ के धरना में भाग लिया। विधायक श्री सिंह ने पत्रकारों से बातचीत में अपने आंदोलनात्मक कदम को उचित ठहराते हुए कहा कि बसपा व सपा मानसिकता के अधिकारी व कर्मचारी योगी सरकार को बदनाम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि बलिया जिले के शिक्षकों के वेतन भुगतान के लिये योगी सरकार ने चार माह का वेतन अनुदान दे दिया है, फिर भी अधिकारियों ने वेतन भुगतान नही किया। एक सवाल के जबाब में उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में भाजपा विधायकों के असंतोष के बावजूद योगी आदित्यनाथ का दल में कोई विकल्प नहीं है। योगी ही मुख्यमंत्री रहेंगे। दल में केशव मौर्य हो या अन्य कोई, योगी के सामने नही टिक पायेंगे। उन्होंने कहा कि योगी के सामने केशव मौर्य व अन्य नेता बौने हैं।

 पत्नी को गाय बांधने वाले खूटे से मार डाला 

भदोही । जिले के ज्ञानपुर थाना इलाके में बुधवार को मानसिक रूप से बीमार व्यक्ति ने गाय बाँधने वाले खूंटे से प्रहार कर अपनी पत्नी को मौत के घाट उतार दिया। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज कर हत्यारोपी पति को गिरफ्तार कर लिया है। जानकारी के अनुसार इलाके के उमरिया गाँव निवासी राजेंद्र गिरी (50) अहमदाबाद में रहकर काम करता है वह मानसिक रोग से पीड़ित है, जिसका इलाज चल रहा है। बुधवार सुबह वह अहमदाबाद से अपने घर पहुंचा। घर में दाखिल होने से पहले अचानक उसने बंधी गाय खोला और उसका खूंटा उखाड़ कर सामने खड़े दो बेटे और एक लड़की सहित पत्नी रानी गिरी (45) की तरफ बढ़ा इससे पहले की कोई कुछ समझ पाता उसने रानी के सिर पर कई वार कर दिया। रानी की मौके पर ही मौत हो गई। पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज कर आरोपी को मौके से गिरफ्तार कर लिया है।

 वाराणसी में पुल हादसे के दोषियो को कड़ी सजा मिले-मायावती

लखनऊ । प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में चलते ट्रैफिक के दौरान् निर्माणाधीन बड़े पुल का एक बड़ा हिस्सा गिर जाने से मंगलवार को 18 लोगों की मौत पर गहरा दुःख व आक्रोश व्यक्त करते हुये बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमांे मायावती ने बुधवार को कहा कि अत्यन्त ही गम्भीर व आपराधिक लापरवाही के इस मामले को सरकार को हल्केपन से नहीं लेना चाहिये। उन्होंने कहा कि इस घटना की तुरन्त ही उच्च-स्तरीय जाँच कराकर दोषियों को कड़ी-से-कड़ी सजा भी दिलाना चाहिये ताकि ऐसी दर्दनाक घटनाओं को दोबारा होने से रोका जा सके।

यहां जारी एक बयान में बसपा मुखिया मायावती ने कहा कि घोर आपराधिक लापरवाही आदि के ऐसे संगीन मामलों में के शीर्ष नेताओं द्वारा सस्ती मानसिकता दिखाकर केवल ‘मन पर बोझ’ बता देने से जिम्मेदारी से मुक्ति पा लेने का प्रयास सही नहीं है, बल्कि इसके लिये कुछ ठोस सुधारात्मक कार्रवाई व उपाय भी करने की सख्त जरूरत है। बसपा नेत्री ने कहा कि अक्सर यही देखा गया है कि सरकार पीड़ित परिवारों व घायलों आदि को अनुग्रह राशि आदि देकर अपने आपको जिम्मेदारी से मुक्त समझ लेती है जबकि इसके साथ-साथ सरकार का असली कर्तव्य है कि वह दोषियों की पहचान करके सजा सुनिश्चित करे ताकि घटनाओं की पुनरावृत्ति ना हो।

ऐसा नहीं होने के कारण ही प्रदेश में एक-के-बाद-एक लगातार गम्भीर आपराधिक घटनायें होती चली जा रही हैं। वास्तव में यही बुरा व गैर-जिम्मेदारी का हाल अपराध नियन्त्रण व कानून-व्यवस्था के मामले में भी प्रदेश की भाजपा सरकार का बना हुआ है जिस कारण प्रदेश में जमीनी स्तर पर हर तरफ हिंसा, अराजकता व जंगलराज जैसे माहौल है। केवल भाजपा के मंत्री व इनके नेताओं के बयानों में ही लोगों को हसीन सपने दिखाये जाने के प्रयास किये जाते हैं। मायावती ने कहा कि अपराध नियन्त्रण व कानून-व्यवस्था के साथ- साथ खासकर दलितों व पिछड़ों के विरुद्ध जातिगत द्वेष, हिंसा व अन्याय-अत्याचार के मामले भी उत्तर प्रदेश में रुकने का नाम ही नहीं ले रहे हैं। इतना ही नहीं बल्कि ऐसे मामलो में अपराधियों को खुलेआम पुलिस व सरकारी संरक्षण मिलने के कारण स्थिति अत्यन्त ही गम्भीर बनती जा रही है।

प्रेमी युगल ने ट्रेन के सामने कूदकर जान दी

गाजीपुर । जिले के औड़िहार-मऊ रेल खंड पर स्थित सादात रेलवे स्टेशन के आगे बापू इंटर कॉलेज के बगल से गुजर रही रेल लाइन पर जा रही चैरीचैरा एक्सप्रेस के इंजन के सामने कूदकर भदोही जिले के विजय भारती (19) एवं आरती (18) ने आत्महत्या कर ली। जानकारी के अनुसार मंगलवार को जब चैरी चैरा एक्सप्रेस जा रही थी कि एक युवक और युवती उसके इंजन के सामने कूद गए। दोनों के टुकड़े हो गए। उनकी मौके पर ही मौत हो गयी। स्टेशन मास्टर की सूचना पर पहुंची पुलिस ने दोनों शवों की तलाशी लेकर आधार कार्ड के आधार पर उनकी शिनाख्त कर घरवालों को सूचित किया। घरवालों के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार दोनों में साथ पढ़ने के साथ आपसी प्रेम हो गया। पता चला कि दोनों आपस में शादी करना चाहते थे। जबकि उनके घर वाले शादी के विरुद्ध थे। इसके बावजूद दोनों के बीच बात होती रही। दोनों मिलते भी रहे। सोमवार को विजय भारती अपने पिता के फोन कर हंडिया जाने की बात कही। उसके बाद गत दिवस जब वाराणसी से मऊ जा रही चैरी चैरा एक्सप्रेस बापू इंटर कॉलेज के पास रेलवे लाइन से गुजर रही थी उसी समय दोनों उसके सामने कूद गए। उनकी मौत हो गयी। पुलिस ने दोनों शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।

 पूर्व बीडीसी सदस्य की गोली मारकर हत्या

आजमगढ़ । जिले के जहानागंज थाना क्षेत्र के देवसीपुर गांव के नहर पुलिया के समीप बुधवार को बदमाशों ने पूर्व बीडीसी सदस्य की गोली मारकर हत्या कर दी। हत्या से नाराज ग्रामीणों ने सड़क जाम कर प्रदर्शन किया। बाद में पुलिस द्वारा कार्रवाई के आश्वासन पर जाम समाप्त हुआ। मृतक के परिजनों की तहरीर पर पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज कर आरोपियों की तलाश में जुट गयी है।

जानकारी के अनुसार जहानागंज थाना क्षेत्र के मंदे दलित बस्ती निवासी मुसाफिर (60) पुत्र सोहित राम पूर्व क्षेत्र पंचायत सदस्य थे। बुधवार की सुबह करीब आठ बजे मंदे चट्टी पर चाय पीने जा रहे थे। इसी दौरान देवसीपुर नहर पुलिया के समीप बदमाशों ने ताबड़तोड़ फायर कर घायल कर दिया। गोली चलने की आवाज सुनकर जब तक लोग मौके पर पहुंचते तब तक मुसाफिर की मौत हो चुकी थी। घटना से नाराज दलित बस्ती के लोगों ने शव को वहीं सड़क पर रखकर जाम कर दिये। सूचना मिलने पर कई थाने की फोर्स मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने कार्रवाई के आश्वासन पर जाम समाप्त कराया और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

परिजनों की तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर आरोपियों की तलाश में छापेमारी कर रही है। प्रथम दृष्टया घटना का कारण जमीनी विवाद बताया जा रहा है। पुलिस मामले की जांच में जुट गयी है।

 ‘कैंसर स्क्रीनिंग वैन’ गाँव-गाँव में जाकर कैंसर की संभावना का पता लगाएगी

लखनऊ । स्वास्थ्य सेवाओं को और सुदृढ़ बनाने व कैंसर मरीजों की जाँच के लिए गाँव-गाँव स्वास्थ्य सेवा पहुँचाने के लिए लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान के निदेशक डाॅ. दीपक मालवीय और पाॅवर फाइनेन्स काॅरपोरेशन लिमिटेड, भारत सरकार के महाप्रबंधक आर. मुरारी के मध्य डाॅ. राम मनोहर लोहिया संस्थान के लिए एक कैंसर स्क्रीनिंग वैन खरीदने के लिए अनुबंध पत्र (एमओयू) पर हस्ताक्षर किये गये।

इस विषय पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री आशुतोष टंडन ने बताया कि ‘कैंसर स्क्रीनिंग वैन’ प्रदेश के गाँव-गाँव में जाकर कैंसर की संभावना का पता लगाएगी। इससे दूर-दराज के मरीजों को ,जो अस्पताल तक नहीं पहुँच पाते है, उनकी प्रारम्भिक जाँच वहीं वैन में हो जायेगी। उन्होंने बताया कि यह जाँच निःशुल्क की जायेगी। यदि किसी मरीज के अन्दर कैंसर के लक्षण पाये जाते हैं तो उसके आगे के इलाज के लिए अस्पताल को रेफर कर दिया जायेगा। उन्होंने बताया कि यह वैन दूर-दराज के इलाकों के लिए बहुत उपयोगी होगी। चिकित्सा सेवा क्षेत्र में यह वैन अत्यन्त उपयोगी साबित होगी।

 ट्रक ने आठ को कुचला, पांच की मौत, तीन घायल 

जालौन । गंगा स्नान करने कानपुर के बिठूर जा रहे एक परिवार के आठ लोगां को अनियंत्रित गति से चल रहे ट्रक ने कुचल दिया जिसमें पांच लोगो की मौत हो गयी तथा तीन लोग घायल हो गये। जानकारी के मुताबिक थाना डकोर निवासी बलदेव सिंह का परिवार गंगा स्नान के लिए अपनी बोलेरो जीप से कानपुर के बिठूर जा रहा था। बीती देर रात्रि जैसे ही बलदेव सिंह की गाड़ी राष्ट्रीय राजमार्ग कानपुर-झांसी पर उरई क्षेत्र के संकट मोचन के पास पहुंची की जीप अचानक पंचर हो गई, पंचर होने के कारण जीप पर सवार सभी आठों सवारियां उतर कर डिवाइडर के बीचों-बीच बैठ गई और ड्राइवर पंचर टायर बदलने लगा।

बताया जाता है कि इसी बीच झांसी की ओर से कानपुर जा रहे ट्रक का संतुलन बिगड़ गया जिसके कारण ट्रक डिवाइडर पर चढ़ गया तथा डिवाइडर के बीचों बीच बैठी सभी सवारियों को कुचल दिया जिससे मौके पर कविता (08), राहुल (26), कैलाशी देवी (50), रामकरण (35) सहित चार लोगों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि रजनी (31) को अस्पताल ले जाते समय उरई के पास ही मौत हो गई। इसके अलावा तीन अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए। सभी को जिला अस्पताल उरई में भर्ती करवाया गया। दुर्घटना की सूचना 100 नंबर पर मिलने के बाद बचाव कार्य शुरू हुआ। उधर, दुर्घटना के बाद ट्रक चालक ट्रक छोड़कर भाग गया।

तस्करी कर ले जायी जा रही 28 लाख की शराब सहित एक गिरफ्तार बलिया । पुलिस व आबकारी विभाग की संयुक्त टीम ने सिकन्दरपुर कस्बे से घेराबंदी करके ट्रक द्वारा बिहार ले जायी जा रहा 28 लाख 56 हजार रुपया मूल्य की अंग्रेजी शराब बरामद की है। पुलिस ने चालक को गिरफ्तार कर ट्रक को अपने कब्जे में लिया है। बरामद शराब 886 पेटियों में था, जिसमें 600 बोतल व 38400 शीशियां थी। पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि पंजाब निर्मित अंग्रेजी शराब से लदी एक ट्रक आ रहा है। सूचना मिलते ही उन्होंने इस सम्बंध में आबकारी विभाग को जानकारी दे दी। बाद में पुलिस व आबकारी विभाग की संयुक्त टीम ने मौके पर पहुंच कर चालक को पकड़ लिया। बाद में ट्रक की तलाशी लेने पर उसमें से तस्करी कर लायी गयी शराब बरामद की। पुलिस ने विभिन्न धाराओं के तहत मुकदमा पंजीकृत कर गिरफ्तार चालक परविंदर सिंह को जेल भेज दिया है।

 जमीन को लेकर भाइयों ने की भाई की हत्या

बरेली । जिले के ग्रामीण क्षेत्र में अपने हिस्से की जमीन बेचने की कोशिश में लगे युवक की उसके दो सगे भाइयों ने ईट से कुचलकर हत्या कर दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने दोनों भाइयों को गिरफ्तार कर लिया और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। जानकारी के अनुसार थाना फरीदपुर के नौगवां निवासी धर्मेन्द्र कुमार (24) पुत्र छदामी लाल की बीती रात हत्या कर दी गयी। बताया जाता है कि धर्मेंद्र कुमार पिछले कई सालों से फरीदपुर तहसील के खमियांपुर गांव में अपने ननिहाल में रहता था। जबकि नौगवां गांव में उसके दो विवाहित भाई प्रवेश और सुरेश रहते थे। धर्मेंद्र इस गांव में अपने हिस्से की सौ गज जमीन बेचकर ननिहाल में ही रहना चाहता था उसके दोनों भाई यहां से जमीन बेचने के लिए मना कर रहे थे। जमीन बेचने के सिलसिले में मंगलवार को धर्मेंद्र अपने गांव पहुंचा था। यहां दोनों भाइयों ने पहले धर्मेंद्र के साथ शराब पी और शराब के नशे में धुत होने के बाद दोनों भाई ने धर्मेंद्र से जमीन बेचने के लिए मना किया। लेकिन धर्मेंद्र जमीन बेचने की बात पर अड़ा रहा। जिसके बाद शराब के नशे में धुत्त दोनों भाइयों ने धर्मेंद्र कुमार (24) को सोते समय ईंट से मुँह कुचल दिया। धर्मेंद्र की मौके पर ही मौत हो गयी। हत्या की सूचना पर पहुंची पुलिस ने दोनों भाइयों प्रवेश और सुरेश को गिरफ्तार कर लिया और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। धर्मेंद्र के पिता की एक साल पहले ट्रैक्टर से कुचल जाने से मौत हो चुकी है।

वाराणसी फ्लाईओवर हादसा: मृतकों की संख्या स्पष्ट नहीं 

लखनऊ । वाराणसी में मंगलवार को हुए फ्लाईओवर हादसे में मृतकों की संख्या कितनी है इसे लेकर को लेकर भ्रम की स्थिति पैदा हो गयी है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दुर्घटना के पीडितों से मिलने के बाद मीडिया को मृतकों की संख्या 18 बता रहे सरकारी अधिकारियों ने अब इसे संशोधित कर 15 बताया है।

प्रदेष शासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बुधवार को यहां बताया कि वाराणसी के जिलाधिकारी की रिपोर्ट के मुताबिक फ्लाईओवर ढहने की घटना में 15 लोगों की मौत हुई है। वहीं हादसे के कई घण्टों बाद प्रमुख सचिव सूचना, प्रमुख सचिव गृह अरविन्द कुमार और अन्य ने आधिकारिक तौर पर मृतकों की संख्या 18 बतायी थी।

उधर, राहत और बचाव कार्य के लिए मौके पर लगायी गयी एनडीआरएफ ने 16 शव मिलने की पुष्टि की थी। मुख्यमंत्री कल रात वाराणसी गये थे और मीडिया से बात की थी। उन्होंने बताया था कि दुर्घटना में 15 लोग मारे गये हैं। फिलहाल अभी यह साफ नहीं हो सका है कि मृतकों की असल संख्या क्या है।

व्हाट्सएप ग्रुप में सुसाइड नोट वायरल कर लैब इंचार्ज ने लगा ली फांसी

महराजगंज । सिसवा आईपीएल चीनी मिल के लैब इंचार्ज ने बुधवार तड़के फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। उसे मंगलवार की शाम को शीरे में गड़बड़ी के आरोप में नौकरी से निकाला गया था। उसने फांसी लगाने से पहले सुसाइड नोट लिखकर फैक्ट्री के व्हाट्सएप ग्रुप पर वायरल कर दिया। घटना की सूचना पर कोठीभार पुलिस व फारेंसिक एक्सपर्ट टीम ने जांच पड़ताल शुरू कर दी है।

पीलीभीत जिले के ग्रामसभा पिपरिया दुलई पूरनपुर निवासी अशोक मिश्रा आईपीएल फैक्ट्री में वर्ष 2010 से लैब इंचार्ज के पद पर कार्यरत थे। पत्नी छह माह से गांव में ही थीं। बताया जा रहा है कि मंगलवार शाम अशोक मिश्रा को शीरे में गड़बड़ी के आरोप में नौकरी से निकाल दिया गया। इससे आहत होकर उन्होंने बुधवार भोर में करीब तीन बजे फैक्ट्री के अधिकारी वर्ग के व्हाटसएप ग्रुप में एक सुसाइड नोट अपलोड किया। उसके बाद आवास के आंगन में टीन शेड की कुंडी में दुप्पटे से गले में फंदा लगाकर झूल गए। बुधवार सुबह जब व्हाटसएप ग्रुप पर मिल कर्मचारियों ने सुसाइड नोट देखा तो उनके आवास का दरवाजा खटखटाए। कोई हरकत नहीं मिलने पर पुलिस को सूचना दी गई। अंदर अशोक का शव फंदे से लटक रहा था। पुलिस ने शव का पंचनामा बनाकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। अशोक के बेड पर सुसाइड नोट को भी पुलिस ने बरामद किया।

पुरुष मित्र के संग युवती ने खाया जहर, युवक की मौत

फतेहपुर । शादी तय होने से आहत एक युवती ने बुधवार सुबह अपने प्रेमी के साथ जंगल में जहरीला पदार्थ खा लिया। घटना में युवक की मौके पर ही मौत हो गई। प्रेमी के शव के पास तड़प रही युवती को ग्रामीणों ने देखा और उसे घर ले गए। जहां इलाज के अभाव में वह पांच घंटे तक वह तड़पती रही। सूचना पर पहुंची पुलिस ने युवती को सीएचसी में भर्ती कराया है, जहां उसकी हालत नाजुक बताई जा रही है।

जानकारी के अनुसार एक गांव के कुछ लोग भूसा लादने ट्रैक्टर से खेत की ओर जा रहे थे। तभी उन्होंने गांव के करीब सात सौ मीटर दूरी पर स्थित पहाड़ी के पास युवती (20) को गांव के ही बृजेन्द्र कुमार निषाद (19) के शव के पास तड़पते हुए देखा। ग्रामीण मौके पर पहुंचे और युवती को युवक के शव के साथ ट्रैक्टर में लाद कर गांव ले गए। इलाज के लिए एंबुलेंस को फोन कर बुलाया गया लेकिन युवती की मां ने आर्थिक स्थित का हवाला देते हुए युवती को इलाज के लिए ले जाने से इनकार कर दिया। इस बीच गांव के लोगों ने घटना की जानकारी पुलिस को दी। चैकी इंचार्ज मौके पर पहुंचे और एक सिपाही व चैकीदार की मदद से युवती को बाइक से सीएचसी ले गए। जहां उसकी हालत नाजुक बताई जा रही है। परिजनों ने बताया कि युवती भोर पहर शौच के लिए घर से निकलती थी।

 प्रेमी युगल ने जहर खाकर जान दी

मुजफ्फरनगर । जिले के मीरापुर के गांव कैलापुर में प्रेमी युगल ने जहर खाकर आत्महत्या कर ली। दोनों के शव घर के समीप ही गन्ने के खेत में पड़े मिले। युवती गाजियाबाद की रहने वाली थी। जांच पड़ताल के बाद पुलिस ने दोनों के शव पोस्टमार्टम को भिजवा दिए।

जानकारी के अनुसार कैलापुर गांव निवासी संजय (19) मीरापुर में मेडिकल स्टोर में नौकरी करता था। संजय की चचेरी बहन की ससुराल मेरठ में है। बेटी की ननद गाजियाबाद के सिहानी गेट थाना क्षेत्र के बाबू लाल मार्ग पर रहती है। संजय का ननद की बेटी अंजलि (18) से प्रेम प्रसंग हो गया। बीती शाम अंजलि अचानक घर से लापता हो गई। खोजबीन के बाद भी उसका कुछ पता नहीं चला। बुधवार तड़के चार बजे संजय मेडिकल स्टोर पर जाने की बात कहते हुए घर से निकल गया। परिजनों ने इतनी सुबह जाने का कारण पूछा तो उसने कहा कि मेडिकल स्टोरी स्वामी के साथ दवाई लेने बाहर जाना है। दोपहर को गांव के कुछ बच्चे खेलते हुए संजय के घर के पीछे गन्ने के खेत में पहुंच गए। वहां पर संजय और युवती का शव देख शोर मचाया। ग्रामीण वहां पहुंचे तो शव संजय और अंजलि के निकले। शव के पास सल्फास की गोलियां पड़ी थीं। सूचना पर पहुंची पुलिस ने परिजनों से पूछताछ के बाद शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। संजय व अंजलि के परिजनों का कहना था कि उन्हें दोनों के प्रेम प्रसंग के बारे में जानकारी नहीं थी। यदि वे बता देते तो हम दोनों की शादी करा देते।

कुत्तों ने एक और बच्ची को नोच डाला 

सीतापुर। जिले में आदमखोर कुत्तों का आतंक कम होने का नाम नहीं ले रहा है। गत दिवस भी कुत्तों ने एक किशोरी को नोच कर जख्मी कर डाला। इससे आक्रोशित ग्रामीणों ने घेराबंदी कर दो कुत्तों को मार दिया। शहर कोतवाली इलाके के ग्राम बिहारीगंज निवासी मोहम्मद याकूब की आठ वर्षीय पुत्री शहरीन बानो, साबरीन पुत्र महरूद्दीन के साथ बीती शाम गांव के पूरब में शौच के लिये गयी थी। इसी दौरान पांच कुत्तों ने उस पर हमला कर दिया। दोनों की चीख-पुकार सुन मौके पर पहुंचे ग्रामीणों ने किसी तरह शहरीन को बचाया।

योगी से मिले मुलायम

लखनऊ । समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव ने बुधवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से उनके सरकारी आवास पांच कालिदास मार्ग पर मुलाकात की। बताया जाता है कि वह उच्चतम न्यायालय द्वारा पूर्व मुख्यमंत्रियों से उनके सरकारी बंगले खाली करने के निर्देश से उत्पन्न हालात पर चर्चा करने गये थे।

जानकारी के मुताबिक बिना किसी पूर्व नियोजित कार्यक्रम के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव मुख्यमंत्री के आवास पर दोपहर पहुंचे और वहां करीब 20 मिनट रहे। सरकारी अधिकारियों ने इसे शिष्टाचार भेंट बताया जबकि मुलायम के करीबी मानते हैं कि उन्होंने अपने बंगले से जुडे मुददे पर बात की है। मुलायम पांच विक्रमादित्य मार्ग पर रहते हैं जबकि उनके पुत्र अखिलेश यादव बगल में ही चार विक्रमादित्य मार्ग पर रहते हैं।

विदित हो कि शीर्ष अदालत ने इस महीने की शुरूआत में उत्तर प्रदेश के सभी पूर्व मुख्यमंत्रियों को अपने सरकारी बंगले खाली करने का निर्देश दिया है। अदालत का यह आदेश एनजीओ लोक प्रहरी की जनहित याचिका पर आया। उत्तर प्रदेश विधानसभा ने एक संशोधन प्रस्ताव पारित किया था, जिसके तहत सभी पूर्व मुख्यमंत्रियों के आजीवन सरकारी बंगलों में रहने का प्रावधान था। उत्तर प्रदेश के छह पूर्व मुख्यमंत्रियों नारायण दत्त तिवारी, मुलायम सिंह यादव, कल्याण सिंह, मायावती, राजनाथ सिंह एवं अखिलेश यादव के पास राजधानी के वीवीआईपी क्षेत्र में सरकारी बंगले हैं।

=>
=>
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बड़ी खबर: यूपी में एक झटके में बेघर होगे हजारों लोग…

यूपी के कानपुर में हाईकोर्ट की सख्ती के