उत्तराखंड में भूस्खलन से ध्वस्त हुआ मकान, दो लोगों की गई जान

- in उत्तराखंड

देहरादून : उत्तराखंड में मौसम के तल्ख तेवरों ने दो लोगों की जिंदगी लील ली। बारिश के कारण पिथौरागढ़ में लामरी के पास हुए भूस्खलन के मलबे की चपेट में आकर एक मजदूर की मौत हो गर्इ। तो वहीं हरिद्वार में बारिश के साथ तेज आंधी चलने से गिरे पेड़ की चपेट में आकर एक टैक्सी चालक की मौत हो गर्इ। उत्तराखंड में भूस्खलन से ध्वस्त हुआ मकान, दो लोगों की गई जान

उत्तराखंड में इन दिनों मौसम ने सख्त रुख अपना लिया है। भारी बारिश से पहाड़ों पर जनजीवन पूरी तरह से अस्त व्यस्त है। वहीं, मैदानी क्षेत्रों में भी हालात ठीक नहीं है। रविवार को भी सुबह से ही आसमान में बादल छाए रहे। गढ़वाल से लेकर कुमाऊं तक कुछ जगहों पर बारिश और आंधी भी देखने को मिली। 

पिथौरागढ़ जिले में हुर्इ बारिश के चलते कैलास मानसरोवर यात्रा मार्ग पर लामारी के पास भूस्खलन हो गया। जिसेक मलबे की चपेट में आने से नेपाली मजदूर की मौत हो गर्इ। दरअसल, लामारी के पास चीन सीमा तक बन रही सड़क का कार्य चल रहा है। सड़क निर्माण गर्ग एंड गर्ग कंपनी करा रही है। कार्य के दौरान अचानक पहाड़ की तरफ से भूस्खलन हुआ। जिसकी चपेट में आकर जय सिंह पुत्र दान सिंह निवासी थापा की मौत हो गई।

मकान हुआ ध्वस्त, परिवार ने भागकर बचार्इ जान 

पिथौरागढ़ जिले में बारिश का सितम लगातार जारी है। दरअसल, मुनस्यारी के निकटवर्ती जैती गांव निवासी चंद्र सिंह पांगती के परिवार के चार सदस्य घर के अंदर ही कार्य कर रहे थे। इसी दौरान मकान की छत से मिट्टी गिरने लगी। जिसे देखते घर के सदस्यों ने बाहर को दौड़ लगा दी। कुछ ही पलों में छत भरभराकर गिर गई। घर के लोगों के सुरक्षित बाहर निकलने से बड़ा हादसा टल गया। हालांकि, घर में रखा सारा सामान मलबे में दब गया। 

टैक्सी के ऊपर गिरा पेड़, चालक की मौत 

नैनीताल जिले में हुर्इ बारिश के दौरान चली आंधी की वजह से एक पेड़ टूटकर टैक्सी के ऊपर गिर गया। जिससे वाहन चालक की मौत हो गर्इ। दरअसल, हल्द्वानी से पाटी के लिए वाहन चला रहा प्रकाश उर्फ पप्पू निवासी पाटी (चंपावत) जैसे ही पदमपुरी शहर फाटक लोहाघाट मार्ग पर पहुंचा तो बारिश शुरू हो गर्इ। बारिश से बचने के लिए चालक वाहन की छत पर रखे सामान को तिरपाल से ढकने लगा। इसी दौरान एक पेड़ टूटकर उसके ऊपर गिर गया। जिससे उसकी मौत हो गर्इ। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

पिछले तीस साल में सिर्फ 30 फीसद लोगों तक पहुंचा विकास : मनोहर जोशी

देहरादून: पूर्व केंद्रीय मंत्री और सांसद मुरली मनोहर जोशी