इस साल यूपी के 18 लोक सेवक इसलिए हुए गिरफ्तार

जुबिली न्यूज़ डेस्क
लखनऊ। सीएम योगी ने भ्रष्टाचार में लिप्त कर्मियों के विरुद्ध की जा रही कार्रवाई में और अधिक तेजी लाने के निर्देश दिये हैं। उनके निर्देशों के क्रम में भ्रष्टाचार निवारण संगठन द्वारा भ्रष्टाचार में लिप्त पाये जाने वाले कर्मियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जा रही है।
भ्रष्ट लोक सेवकों को पकड़ने के लिए नियमानुसार अधिकाधिक ट्रैप किये जाने का प्रयास हो रहा है। अपर मुख्य सचिव, गृह अवनीश अवस्थी ने बताया कि इस साल 31 जुलाई तक भ्रष्टाचार निवारण संगठन द्वारा रिश्वत लेते हुए 18 लोक सेवकों को रंगे हाथों गिरफ्तार किया जा चुका है।
ये भी पढ़े: इस वजह से IPL से बाहर हुए नाइट राइडर्स के ये गेंदबाज
ये भी पढ़े: ‘मोदी सरकार से इतने चीनी लोग खुश’

ये भी पढ़े: जदयू के आधे विधायक हमारे सम्पर्क में : तेज प्रताप यादव
ये भी पढ़े: गुलाम नबी आजाद ने बताया क्यों लिखी थी सोनिया गांधी को चिट्ठी ?
उन्होंने बताया कि इस अवधि में कुल 150 अधिकारियों एवं कर्मचारियों के विरुद्ध भ्रष्टाचार में लिप्तता के संबंध में कार्रवाई की गई है, जिसमें 33 कर्मी पुलिस विभाग एवं 117 कर्मी अन्य विभागों के हैं। पुलिस अधीक्षक, भ्रष्टाचार निवारण संगठन, उप्र लखनऊ ने भ्रष्टाचार में लिप्त जिन 150 कर्मियों के विरुद्ध कार्रवाई की गई है।
इसका ब्यौरा देते हुये उन्होंने बताया कि 14 कर्मियों के विरुद्ध खुली जांच, 12 कर्मियों के खिलाफ अभियोग पंजीकरण, 8 के विरुद्ध विभागीय कार्यवाही, 26 के विरुद्ध जांच- स्थानान्तरण करने एवं 90 के विरुद्ध आरोप पत्र प्रेषित किये जाने की संस्तुति की गई है। उन्होंने ये भी बताया कि भ्रष्टाचार के संबंध में संगठन द्वारा इस अवधि में 153 अभिसूचना, जांच, विवेचनाओं का भी निस्तारण किया गया है।
ये भी पढ़े: घर में होते हैं आर्थिक नुकसान तो इन बातों का रखें ध्यान
ये भी पढ़े: पंडितों के साथ हो गया छल, दक्षिणा की जगह मिला ‘धोखा’
ये भी पढ़े: कौन है सैयद जफर इस्लाम? जिसको BJP ने दिया सम्मान

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button