इस दिशा में है किचन स्लैब तो होगी संपत्ति की हानि, जानिए इसकी सही दिशा

- in धर्म

रसोई, किसी भी घर का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा होता है, खासकार वास्तु में रसोईघर के दशा-दिशा पर विशेष महत्व दिया गया है। वास्तुशास्त्र के अनुसार अगर रसोईघर में कोई दोष हो तो ये कई सारी परेशानियों का कारण बनता है.. वास्तु की माने तो अगर आप गलत दिशा में मुंह करके खाना बनाते हैं तो इससे पैसे की हानि होती है और आपके घर-परिवार में सुख-समृद्धी में बाधा आती है। ऐसे में रसोईघर से जुड़े वास्तु का जानना बेहद जरूरी है और आज हम आपको रसोई से सम्बंधित कुछ ऐसे ही वास्तु टिप्स बताने जा रहे हैं..

दरअसल घर की रसोई का वास्तुशास्त्र के हिसाब से होना बेहद आवश्यक है, क्योकि ये वो स्थान होता है जहां घर का अन्न पकता है और वही अन्न घर के सभी सदस्य को जीवन-ऊर्जा प्रदान करता है। ऐसे में अगर रसोई में कोई वास्तु दोष हो तो इससे घर वालो के मानसिक और शारीरिक स्वास्थय पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। वहीं रसोई को भण्डार गृह भी माना जाता है, इसलिए इससे घर की सम्पन्ना और समृद्धी जुड़ी होती है। ऐसे में रसोई से जुड़े वास्तु दोष आर्थिक हानि का भी कारण बनते हैं। इसलिए घर बनवाते समय रसोई की दिशा का ख्याल रखना बेहद जरूरी है। इसके साथ ही रसोई में चूल्हा के स्थान का भी ध्यान रखना चाहिए। तो चलिए जानते हैं कि वास्तु के हिसाब से हमारी रसोई कैसी होनी चाहिए।

वास्तु की हिसाब से रसोई हमेशा आग्नेय कोण यानी कि दक्षिण-पूर्वी दिशा में होनी चाहिए, दरअसल घर का ये इस कोने में अग्नि का स्थान बताया गया है। ऐसे में अगर यहां रसोई की अग्नि जलती है तो उससे सकारात्मक ऊर्जा मिलती है। वहीं अगर इसके अलावा कहीं रसोई है तो वो नकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न होती है।

वास्तुशास्त्र के अनुसार, उत्तर दिशा की ओर मुंह कर के खाना बनाने से व्यापार और कामकाज में लगातार हानि होती है, इसके साथ ही संपत्ति को भी नुकसान पहुंचता है।

वहीं रसोई में किस दिशा में मुंह करके आप खाना पका रहे हैं ये भी वास्तु के हिसाब से बेहद महत्व रखता है। गलत दिशा में मुंह करके खाना पकाने से वास्तु दोष उत्पन्न होता है जो कि घर में नकारात्मता लाता है। जैसे कि उत्तर-पश्चिम दिशा की ओर मुंह करके खाना पकाने से घर-परिवार की सुख-शांति भंग होती है और इससे घर के सदस्यों में आपसी लड़ाई-झगड़े और कलह की स्थिति उत्पन्न होती है।

वहीं अगर दक्षिण दिशा की तरफ मुंह करके खाना पकाते हैं तो इससे घर की महिलाएं हमेशा परेशान रहती है, उनका स्वास्थ्य सही नही रहता और उन्हें बार-बार डॉक्टर के चक्कर लगाने पड़ते हैं।

साथ ही पश्चिम दिशा में मुंह करके खाना पकाना भी उचित नहीं होता है। वास्तु के अनुसार जिन घरों के किचन में लोग पश्चिम दिशा की तरफ मुंह करके खाना पकाते हैं, उस घर के लोग स्वस्थ नहीं रह पाते और अक्सर रोगों से परेशान रहते हैं।

दरअसल वास्तु के अनुसार घर की सुख-शांति बनाएं रखने और रोग आदी से बचे रहने के लिए पूर्व दिशा की ओर चेहरा करके खाना बनाना सबसे उत्तम होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

हाथों की ऐसी लकीरों वाले लोग बिना संघर्ष के बनतें है अमीर

हर एक व्यक्ति की हथेली पर बहुत सी