इप्सेफ ने मनाया अधिकार दिवस

जुबिली स्पेशल डेस्क
लखनऊ। इंडियन पब्लिक सर्विस एम्पलाइज फेडरेशन (इप्सेफ) के तत्वावधान में शुक्रवार को देश भर के केंद्रीय, राज्यों के कर्मचारी अधिकार दिवस मनाया है। जिसके तहत अपने-अपने कार्यालयों में प्रस्ताव पारित करके प्रधानमंत्री को ज्ञापन भेजा गया है। इसके तहत मांग की गई है कि एक देश एक वेतन भत्ते एवं अन्य सुविधाएं दी जाएं। केंद्र एवं राज्यों में अलग-अलग सुविधाओं की व्यवस्था को समाप्त किया जाए। जिसके अनुपालन में डॉ राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान गोमती नगर लखनऊ में अधिकार दिवस मनाया गया।
बता दें कि इंडियन पब्लिक सर्विस एंप्लाइज फेडरेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी पी मिश्र के आह्वान पर राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद उत्तर प्रदेश पूरे प्रदेश के कर्मचारियों को अधिकार दिवस मनाने के लिए आह्वान किया था। इसके लिए राष्ट्रीय वेतन आयोग का गठन किया जाए।

स्वायत्तशासी संस्थानों ,आंगनबाड़ी, आउटसोर्सिंग से रखे गए संविदा कर्मचारियों को नियमित करने हेतु एक नियमावली बनाई जाए। इप्सेफ ने यह भी मांग की है कि कोविड-19 के इलाज में लगे डॉक्टर, नर्स, पैरामेडिकल स्टाफ, वार्ड बॉय एवं सफाई तथा तकनीकी कर्मचारियों को भारत सरकार एवं राज्य सरकार पुरस्कार देकर सम्मानित करे क्योंकि वे लोग अपनी जान हथेली पर रखकर मरीजों को स्वस्थ करने में लगे हुए हैं। राष्ट्रीय सचिव अतुल मिश्र ने बढ़ती मरीजों की संख्या को देखते हुए 15 दिन का पूर्ण लॉकडाउन करने की मांग की है।
इप्सेफ के अनुसार एक देश मैं एक तरह के वेतन भत्ते सभी लोगों को सभी स्टेट में मिलना चाहिए केंद्र और स्टेट की वेतन और भत्तों की विसंगति को दूर होना चाहिए। इसके आलावा पुरानी पेंशन व्यवस्था बहाल की जाए। संविदा कथा आउटसोर्सिंग कर्मचारियों को निश्चित मानदेय दिया जाए और इनको नियमित कर्मचारी के रूप में नियुक्त किया जाए।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button