इन शुभ-अशुभ के संकेतो को न करें अनदेखा

- in धर्म

हिन्दू धर्म में शगुन और अपशगुन की बहुत मान्यता है। हर छोटी-छोटी चीजों में ये देखने को मिल जाती है। मान्यता के अनुसार अगर आप कोई भी कार्य अपशगुन के तौर पर करते हैं, तो इसका फल हमेशा दुखदायी ही होता है। वंही अगर आप किसी कार्य को करने के लिए घर से बाहर जा रहे हैं, तो घर के बाहर यानि की रास्ते में भी हमें शुभ-अशुभ के कई संकेत मिलते हैं, जिसे हम आमतौर पर अनदेखा कर देते है और फिर जिसका फल हमे बाद में नकारात्मक ही मिलता है। आज हम आपसे कुछ ऐसे ही शुभ-अशुभ के संकेतो के बारे में चर्चा करने वाले हैं, जिन्हे हम आमतौर पर अनदेखा कर देते है।इन शुभ-अशुभ के संकेतो को न करें अनदेखा

रास्ते में चलते समय अगर कोई काँटा सड़क पर दिखें, तों उन्हेे साइड कर दें ताकि ये किसी और को ना चुभ जाएं । कांटे दिखने का संबंध किसी परेशानी की ओर संकेत करता है । हो सकता है, ये आपके परिवार में किसी सदस्य  की सेहत से जुड़ी हो ।

छोटे – छोटे कस्बोे और गांवों में स्नान के बाद पानी सड़क में या गलियों में बिखरा दिख जाता है। अगर आप ऐसे किसी रास्ते से होकर गुजर रहे हैं, तो पानी पर पैर ना पड़ने दें। ऐसा कहा जाता है कि स्नान के बाद जो पानी होता है, वो अपवित्र हो जाता है, ऐसे पानी पर पैर पड़ना शुभ संकेत नहीं। सड़कों पर अकर जानवरों की हड्डियां पड़ी दिख जाती हैं, इनके ऊपर पैर रखकर आगे ना जाएं , उनसे दूर होकर रास्ता पार करें ।

शहरों में कूड़े कचरे के ढेर सड़कों पर जगह – जगह नजर आ ही जाते हैं, लेकिन ऐसी तस्वीरें आपके लिए शुभ नहीं है । रास्ता बदल सकते हैं, तो ऐसे रास्तों से बचकर ही चलें । गंदगी से दूरी बनाकर चलने में ही भलाई है। कूड़ा या कचरा के अलावा अगर सड़क पर राख पड़ी दिखे, तो उसकी चपेट में आने से भी बचें । ऐसी गंदगी के संपर्क में आने से पवित्रता भंग हो जाती है और आप अशुद्ध हो जाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

हर किसी को चाणक्य की इस नीति पर चलना चाइये, पूरी जिन्दगी में नहीं होगी कोई कमी

प्राचीन समय से ही पुरुषों के लिए स्त्री