इन दो राज्यों में गाजा तूफान आज मचा सकता है तबाही, नौसेना अलर्ट

बंगाल की खाड़ी पर चक्रवाती तूफान ‘गाजा’ चेन्‍नई से करीब 470 किलोमीटर दूर दक्षिण पूर्व में स्थित है और गुरुवार को कुड्डलूर तथा पम्बान के बीच दस्तक दे सकता है, जिससे तमिलनाडु में भारी बारिश होने की आशंका है. वहीं इसके खतरे को देखते हुए भारतीय नौसेना को बुधवार को हाई अलर्ट कर दिया गया. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. इन दो राज्यों में गाजा तूफान आज मचा सकता है तबाही, नौसेना अलर्ट

Loading...

नौसेना अधिकारियों ने बताया कि पूर्वी नौसेना कमान (ईएनसी) ने आवश्यक मानवीय सहायता मुहैया कराने के लिए उच्च स्तरीय तैयारी की है. तूफान बृहस्पतिवार शाम में दोनों राज्यों के तटीय क्षेत्रों को पार कर सकता है.

नौसेना के एक अधिकारी ने बताया, ‘‘दो भारतीय नौसैनिक जहाज रणवीर और खंजर मानवीय सहायता और संकट राहत के लिए सबसे अधिक प्रभावित क्षेत्रों में आगे बढ़ने के लिए खड़े हैं.’’ उन्होंने बताया कि इन जहाजों में अतिरिक्त गोताखोर, डॉक्टर, हवा वाली रबड़ की नाव, हेलीकॉप्टर और राहत सामग्री तैयार है.

मौसम कार्यालय ने बताया कि ‘गाजा’ गुरुवार शाम या रात को पम्बान तथा कुड्डलूर के बीच तटीय क्षेत्र को पार कर सकता है. इस दौरान 100 किलोमीटर प्रति घंटे तक की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं. तमिलनाडु सरकार पहले ही 30,500 बचावकर्मी तैनात करने की घोषणा कर चुकी है, वहीं तंजौर, तिरुवरुर, पुडुकोट्टई, नागपट्टिनम, कुड्डलूर और रामनाथपुरम के कलेक्टरों ने गुरुवार को स्कूलों और कॉलेजों की छुट्टी घोषित कर दी है.
चक्रवाती तूफान के मद्देनजर पुडुचेरी और कराईकल क्षेत्रों में कल सभी शिक्षण संस्थान बंद रहेंगे. केंद्रीय जल आयोग ने बांधों पर लगातार नजर रखने की सलाह दी है और इस पृष्ठभूमि में तमिलनाडु के राजस्व मंत्री आर बी उदयकुमार ने कहा कि बांध, झीलें और नदियों पर लगातार नजर रखी जा रही है.

आयोग ने मानक परिचालन प्रक्रिया के अनुसार कार्रवाई की सलाह दी थी क्योंकि तटबंध वाले इलाकों में भारी बारिश बांधों को 24 घंटे से भी कम समय में भर सकती है. सरकार ने तेल विपणन कंपनियों से भी बातचीत की है और उन्हें ईंधन का पर्याप्त भंडार रखने को कहा गया है.

loading...
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *