इन तरीकों से दुनिया की कोई भी चीज कर सकते हैं याद

- in धर्म

बुध धनु राशि में हैं. बुद्धि की एकाग्रता और तीव्र स्मरण शक्ति मिलेगी. आपकी याददाश्त अच्छी हो जाएगी और लाइफ में बहुत सक्सेस मिलेगी. पढ़ाई, नौकरी, व्यापार और घरेलु काम  में याददाश्त चाहिए. कहते हैं विद्या ,बुद्धि ,ज्ञान जितनी खर्च की जाए उतनी बढ़ती है. नए साल में बुद्धिमान बनकर दिखाएं.इन तरीकों से दुनिया की कोई भी चीज कर सकते हैं याद

विद्यार्थियों को अपने कोर्स की किताबों को अच्छे से पढ़-पढ़कर याद करने के तरीके ढूंढने पड़ते है. अगर याद करने का तरीका आसान हो तो कोई भी चीज़ कोई भी ज्ञान बहुत दिनों तक दिमाग में बना रहता है. हम आपको याद करने के आसान- आसान कुछ तरीके बताएंगे जिस से आपको याद करने में आसानी होगी.

याद करने का पहला तरीका –

जिस चीज़ को याद रखना हो उसे बोल बोलकर कई बार दोहराए फिर मन ही मन उसको बोले और दिमाग में बैठा लें. दिमाग में जो बोलना हो , जो लिखना हो, उसकी एक लिस्ट बना लें और लिस्ट की एक हैडिंग भी डाल दें जैसे कलम , किताब ,फ़ोन , सोफ़ा जितने पॉइंट है उनको अलग अलग नाम से याद कर लें. आप बस उस पॉइंट को याद करिये और वो सारी चीज़े आपको याद आ जायेगी. 

याद करने के आसान तरीके

जो भी चीज़ याद करनी हो बहुत दिनों तक याद रखनी हो तो उसकी मन ही मन एक कहानी बना लें और उसका एक वाक्य बना लें. जैसे , बाजार से बहुत सी चीज़ें खरीदनी हो और आपको याद रखना हो जैसे दाल- चावल की खिचड़ी , आलू मटर डालकर उससे पहले दूध-चीनी वाली चाय पीनी है. अब इसमें जितनी भी चीज़े है आप मार्किट से याद कर के ला सकते हो. किसी चीज़ को याद करने के लिए किसी व्यक्ति के नाम से उसे जोड़ दें, नामों का जोड़ मिला लें. जैसे खिलाडियों के नाम से या फ़िल्मी सितारों के नाम से पॉइंट बना ले

जैसे इतिहास की घटनाओ के बारे में राजाओ-महाराजाओं की एक लिस्ट दिमाग में बना ले और सिलसिले से उसे लिख भी सकते हैं. याद रखने के लिए तुकबंदी भी कर सकते है. जोड़-जोड़कर तुकबंदी करते हुए याद कर लें. कविता याद रहेगी तो आप पॉइंट्स बना सकते है.

याद करने का आसान तरीका

याद करने के लिए बड़ी बड़ी चीज़ों को छोटे  छोटे हिस्सों में बाँट लें. इससे याद करने में आसानी होती है जैसे कोई टेलीफोन नंबर याद करना है. ऐसे में टेलीफोन नंबर को छोटे छोटे टुकड़ो में याद करें. 9 8 2 , 1 1 5 ,15 ,16 ,यानी बड़े नंबर को तोड़-तोड़कर याद करें.

मान लीजिये भूगोल की किताब से कुछ याद करना हो जैसे पहाड़ी इलाके , समुद्री इलाके , बर्फीली इलाके अलग अलग बाँट कर , उन्हें याद करें उनकी खासियत , विशेषताएं अलग अलग बना ले.

लम्बे लम्बे चैप्टर्स को याद करने की जगह उन्हें दिमाग पर आँखों से उसे याददाश्त में बैठा ले और कोई लम्बे चैप्टर या भाषण को बोलना हो या लिखना हो तो उसके छोटे छोटे पोइट्स बना ले. उन पॉइंट्स को दिमाग में याद रखें और लिखते समय एक एक पॉइंट के बारे में लिखो और आगे बढ़ते जाओ.

You may also like

भाग्यशाली स्त्रियों के शुभ लक्षण का निशान देखकर, आपको बिलकुल भी नहीं होगा यकीन…

कहते है की जो स्त्रियों होती है हमारे