इंडियन ड्रोन हमारे इलाके में गिरा: चीन की आर्मी का आरोप; भारत ने UAV के LAC पार जाने की बात मानी

- in दिल्ली, राज्य

बीजिंग.डोकलाम विवाद के बाद चीन ने एक बार फिर भारत पर आरोप लगाया है। उसकी सेना ने दावा किया है कि एक भारतीय ड्रोन उसके इलाके में दाखिल हुआ। यह क्रैश हो गया। हालांकि, उन्होंने यह नहीं बताया कि यह घटना कब की है और ड्रोन किस जगह पर पाया गया। उधर भारतीय रक्षा मंत्रालय ने एक ट्रेनी ड्रोन के संपर्क टूटने और एलएसी पार कर जाने की बात मानी गई है।इंडियन ड्रोन हमारे इलाके में गिरा: चीन की आर्मी का आरोप; भारत ने UAV के LAC पार जाने की बात मानी

– न्यूज एजेंसी के मुताबिक, चीन के विदेश मंत्रालय के स्पोक्सपर्सन गेंग शुआंग ने कहा कि इस संबंध में भारत को डिप्लोमैटिग प्रोटेस्ट दर्ज कराया गया है।
– उन्होंने कहा कि यह ड्रोन सिक्कम इलाके में क्रैश हुआ। बता दें कि डोकलाम इसी इलाके में भारत-चीन बॉर्डर पर ही है।

चीन का दावा- हमारे सैनिकों ने की भारतीय ड्रोन होने की तस्दीक

– इससे पहले चीन की सरकारी न्यूज एजेंसी ने वहां की वेस्टर्न थियेटर कमांड के ज्वाइंट स्टाफ डिपार्टमेंट के डिप्टी हेड झांग शुइली के हवाले से जानकारी दी।

– शुइली के मुताबिक, उनके सैनिकों ने जांच के बाद ड्रोन के भारतीय होने की तस्दीक की।
– उन्होंने कहा, “भारत का यह कदम चीन की प्रादेशिक संप्रभुता के खिलाफ है और वह इसका कड़ा विरोध करते हैं।”

भारत ने कहा- ड्रोन से कॉन्टैक्ट टूटा

– उधर, भारतीय रक्षा मंत्रालय की ओर से जारी बयान में टेक्निकल प्रॉब्लम की वजह से एक भारतीय ड्रोन के संपर्क टूटने की बात मानी गई है।

– मंत्रालय ने कहा है कि सिक्किम सेक्टर में एक भारतीय ड्रोन संपर्क टूटने की वजह से एलएसी (लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल) पार कर गया।

तिब्बत तक है वेस्टर्न थियेटर रीजन
– बयान चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी की वेस्टर्न थियेटर कमांड की ओर से आया।
– बता दें कि इस कमांड के अधिकार क्षेत्र (jurisdiction) में भारत से लगा तिब्बत का बॉर्डर वाला इलाका भी आता है।

ये भी पढ़ें: कांग्रेस प्रेसिडेंट के लिए मुझे राहुल गांधी के खिलाफ चुनाव लड़ने से रोका गया: पार्टी नेता का दावा

डोकलाम विवाद क्या था?
– चीन सिक्किम सेक्टर के डोकलाम इलाके में सड़क बना रहा था। डोकलाम के पठार में ही चीन, सिक्किम और भूटान की सीमाएं मिलती हैं। भूटान और चीन इस इलाके पर दावा करते हैं। भारत भूटान का साथ देता है। भारत में यह इलाका डोकलाम और चीन में डोंगलांग कहलाता है।
– चीन ने जून की शुरुआत में यह सड़क बनाना शुरू किया था। भारत ने विरोध जताया तो चीन ने घुसपैठ कर दी। चीन ने भारत के दो बंकर तोड़ दिए थे। इसके बाद दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया था। हालांकि, 73 दिन चले इस टकराव के बाद चीनी सेना वहां से हटने को तैयार हो गई।
– दरअसल, सिक्किम का मई 1975 में भारत में विलय हुआ था। चीन पहले तो सिक्किम को भारत का हिस्सा मानने से इनकार करता था। लेकिन 2003 में उसने सिक्किम को भारत के राज्य का दर्जा दे दिया। हालांकि, सिक्किम के कई इलाकों को वह अपना बताता रहा है।

=>
=>
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

दिल्ली पर मंडराया बिजली संकट, कभी भी हो सकता है ब्लैक आउट : ऊर्जा मंत्री

नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली अंधेरे में डूब