आर्थिक पैकेज के दूसरे हिस्से का भी हुआ ऐलान, जो फूंक सकता है बेहाल गरीब तबके में नई जान

नई दिल्ली। सरकार ने लॉकडाउन के प्रभाव से अर्थव्यवस्था
को
उबारने
के
लिए
घोषित
20 लाख
करोड़
रुपए
के
पैकेज
के
दूसरे
चरण
के
तहत
बृहस्पतिवार
को
प्रवासी
मजदूरों
को
मुफ्त
अनाज,
किसानों
को
सस्ता
कर्ज
और
रेहड़ी
पटरी
वालों
को
कार्यशील
पूंजी
कर्ज
उपलब्ध
कराने
के
लिए 3.16
लाख
करोड़
रुपए
के
राहत
पैकेज
की
घोषणा
की।
इस
बीच
देश
में
कोरोना
वायरस
संक्रमण
के
मामलों
की
संख्या
80,000 के
करीब
पहुंच
गई
है।
संक्रमण
से
मरने
वालों
का
आंकड़ा
2,500 को
पार
कर
गया
है,
वहीं
अब
तक
26,000 से
अधिक
लोग
इससे
ठीक
हो
चुके
हैं।

गौरतलब है कि महामारी के मद्देनजर
देश
को
आत्म-निर्भर बनाने की प्रधानमंत्री
नरेंद्र
मोदी
की
20 लाख
करोड़
रुपये
के
पैकेज
की
घोषणा
को
आगे
बढ़ाते
हुए
वित्त
मंत्री
निर्मला
सीतामण
ने
यहां
आयोजित
संवाददाता
सम्मेलन
में
कहा
कि
8 करोड़
प्रवासी
मजदूरों
को
दो
महीने
के
लिए
5 किलो
प्रति
व्यक्ति
अनाज
और
प्रति
परिवार
एक
किलो
दाल
(चना)
मुफ्त
उपलब्ध
कराई
जाएगी।
साथ
ही
देश
व्यापी
लॉकडाउन
के
कारण
बेरोजगार
हुए
50 लाख
रेहड़ी
पटरी
वालों
को
10,000-10,000 रुपए तक कार्यशील पूंजी कर्ज उपलब्ध कराया जायेगा।

उन्होंने यह भी कहा कि 2.5 करोड़ किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड के जरिये 2 लाख रुपये का रियायती कर्ज उपलब्ध कराया जाएगा। बुधवार को सीतारमण ने करीब 5.94 लाख करोड़ रुपये के पैकेज का ऐलान किया था। आने वाले दिनों में और भी घोषणाएं होने की उम्मीद है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि वित्त मंत्री द्वारा की गयी नयी घोषणाएं किसानों और प्रवासी मजदूरों को खासतौर पर लाभान्वित करेंगी। 

भारत में 25 मार्च से देशव्यापी लॉकडाउन लगा हुआ है, हालांकि चार मई से शुरू हुए बंद के तीसरे चरण में कुछ रियायतें दी गयी हैं। सरकार जल्द ही 17 मई को बंद का तीसरा चरण समाप्त होने के बाद के रास्ते के बारे में घोषणा करेगी। प्रधानमंत्री मोदी कह चुके हैं कि लॉकडाउन का चौथा चरण होगा लेकिन यह पहले के तीन दौर से अलग होगा जिसकी जानकारी जनता को 18 मई से पहले दे दी जाएगी। गुरुवार शाम रात देश में संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 78,880 पहुंच गयी है।

दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण से मौत के मामलों की संख्या 115 हो गयी है और संक्रमण के 472 नये मामले सामने आने के साथ कुल संक्रमितों की संख्या 8,470 हो गयी है। एक दिन में दिल्ली में आज सर्वाधिक मामले आए। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बृहस्पतिवार को कहा कि लॉकडाउन में रियायतें देने के केंद्र के फैसले के बाद सोमवार से शहर में विभिन्न आर्थिक गतिविधियों की अनुमति दी जाएगी।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button