आज 32वीं बार ‘मन की बात’ करेंगे पीएम मोदी, किताब भी हुई लॉन्च…

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज 32वीं बार ‘मन की बात’ कार्यक्रम के जरिए देश को संबोधित करेंगे. ‘मन की बात’ का यह संस्करण काफी खास माना जा रहा है. हाल ही में मोदी सरकार के तीन साल पूरे हुए हैं, ऐसे में सरकार के कामकाज का लेखा-जोखा भी पीएम मोदी के संबोधन में सुनने को मिल सकता है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

अमित शाह सुनेंगे ‘मन की बात’

इस बार मन की बात और भा खास होने वाली है. पीएम मोदी के मन की बात को बीजेपी के अध्यक्ष अमित शाह भी सुनेंगे. अमित शाह दिल्ली के आरके पुरम इलाके में गरीब लोगों के साथ रेडियो पर इस कार्यक्रम को सुनेंगे.

वहीं बीजेपी गुजरात के प्रभारी भूपेंद्र यादव भी मन की बात कार्यक्रम को सुनेंगे. भूपेंद्र यादव अहमदाबाद में पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ बैठकर पीएम मोदी के ‘मन की बात’ सुनेंगे.

‘मन की बात’ पर किताब लॉन्च

मोदी सरकार के तीन साल पूरे होने के मौके पर 26 मई को मन की बात को किताब के रूप में लॉन्च किया गया. ‘मन की बात : ए सोशल रिवोल्युशन ऑन रेडियो’ और ‘मार्चिंग विद ए बिलियन- एनालाइजिंग नरेन्द्र मोदी गवर्नमेंट एट मिडटर्म’ के नाम राष्ट्रति भवन में दो किताबों का अनावरण किया गया. इन दोनों किताबों की पहली प्रति राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को सौंपी गई.

‘न्यू इंडिया में VIP की जगह EPI’

पिछली बार ‘मन की बात’ में पीएम मोदी ने लोगों के दिमाग में भीतर तक घुसी वीआईपी संस्कृति को जड़ से उखाड़ फेंकने और सभी भारतीयों को महत्व देने की जरूरत पर बल दिया था. मोदी ने कहा था कि समय आ गया है, जब वीआईपी संस्कृति को बदलकर ईपीआई (हर व्यक्ति महत्वपूर्ण) कर दिया जाए. मोदी ने कहा, ‘हमारे देश में वीआईपी संस्कृति के लिए एक प्रकार की नफरत है

यह भी पढ़ें:  इन 3 लडको ने लड़की को जबरजस्ती खेत में ले जाकर किया रेप और बनाया वीडियो

लेकिन जब सरकार ने अधिकारियों की गाड़ियों से लाल बत्ती हटाने का फैसला किया तब मैंने महसूस किया कि यह नफरत कितनी भीतर तक घुसी है. यह लाल बत्ती वीआईपी संस्कृति की सूचक बन गई है, जो हमारे दिमाग में भीतर तक घुसी है. लाल बत्ती को हटाना केवल हमारी प्रणाली का एक हिस्सा भर है, लेकिन हमें इस संस्कृति को अपने दिमागों से हटाने का प्रयास करना होगा.

You may also like

भाजपा महाकुंभ में PM मोदी ने कहा- जितना कीचड़ उछालोगे, उतना ही कमल खिलेगा

मध्यप्रदेश में इस साल के आखिर में चुनाव