Home > Mainslide > उत्तर प्रदेश : आज शाम तक की सभी बड़ी खबरें – पढ़ें एक पेज में

उत्तर प्रदेश : आज शाम तक की सभी बड़ी खबरें – पढ़ें एक पेज में

राजापुर को पर्यटन स्थल घोषित कर तुलसीदास के नाम पर विवि खोले सरकार: भगवदाचार्य

गोण्डा। श्रीराम चरित मानस के रचयिता गोस्वामी तुलसीदास की जन्मभूमि राजापुर को पर्यटन स्थल घोषित करते हुए उनके नाम पर एक विश्वविद्यालय खोलने की मांग जोर पकड़ने लगी है। तुलसी जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष डा. स्वामी भगवदाचार्य ने प्रदेष के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व पर्यटन मंत्री रीता बहुगुणा जोषी को पत्र लिखकर जन्म स्थान के विकास की मांग की है।

पत्रकारों से वार्ता करते हुए डा. भगवदाचार्य ने बताया कि बीते 23 जुलाई को एटा में आयोजित मुख्यमंत्री के एक कार्यक्रम में स्थानीय नेताओं व अधिकारियों ने उन्हें गुमराह करके कासगंज के सोरों को गोस्वामी तुलसीदास की जन्मस्थली मानकर पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किए जाने की घोषणा करवा लिया, जबकि गोण्डा जिले में सू्करखेत के निकट स्थित राजापुर गोस्वामी तुलसी दास की जन्मस्थली के रूप में काफी पहले स्थापित हो चुका है। उन्हांेने बताया कि 31 मई 1960 को दिल्ली विवि में आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठी में आचार्य विश्वनाथ प्रसाद मिश्र, डा. नागेन्द्र सरीखे विद्वानों ने एटा का दावा पूर्णतः खारिज कर दिया है। इसी प्रकार 26 दिसम्बर 2005 को महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ वाराणसी में तत्कालीन कुलपति प्रोफेसर सुरेन्द्र सिंह कुलपति की अध्यक्षता में आयोजित चतुर्थ विश्व तुलसी सम्मेलन में सर्वसम्मति से गोण्डा के राजापुर को गोस्वामी तुलसीदास की जन्मभूमि के रूप में स्वीकार किया गया। डा. भगवदाचार्य ने कहा कि अखिलेष यादव के नेतृत्व वाली सपा सरकार ने भी पयागपुर के तत्कालीन विधायक मुकेश श्रीवास्तव द्वारा विधानसभा में पूछे गए एक प्रश्न के उत्तर में मुख्यमंत्री ने जन्मभूमि के विकास के लिए बीस लाख रुपए देने की घोषणा की थी। युग तुलसी पंडित राम किंकर जी, जगद्गुरु शंकराचार्य, स्वामी बासुदेवानंद सरस्वती, जगद्गुरु हर्याचार्य, स्वामी नृत्य गोपाल दास, मोरारी बापू, अनूप जलोटा जैसी विभूतियां भी यहां आकर गोस्वामी तुलसीदास व पास के सूकरखेत में स्थित उनके गुरु नरहरिदास का दर्षन कर चुकी हैं।

उत्तर प्रदेश : आज शाम तक की सभी बड़ी खबरें

बस-कार की भीषण टक्कर में भाजपा नेता सहित चार की मौत

हमीरपुर। जिले में कार और बस के बीच जोरदार टक्कर में एक भाजपा नेता और उनके तीन सहयोगियों की मृत्यु हो गयी। जानकारी के अनुसार भाजपा बुंदेलखंड़-कानपुर के क्षेत्रीय उपाध्यक्ष शैलेन्द्र शुक्ला (49) अपने आठ सहयोगियों के साथ बीती शाम अपनी कार से हमीरपुर से चित्रकूट के लिए रवाना हुए थे। रास्ते में भरुवा सुमेरपुर थाना क्षेत्र के टेढ़ा और इसुली गांवों के बीच उनकी कार को एक निजी बस ने सामने से जोरदार टक्कर मार दी। इस हादसे में शैलेन्द्र शुक्ला, उनके कार चालक पुनीत, बृजेश तथा एक अन्य व्यक्ति की घटनास्थल पर ही मौत हो गई जबकि चार अन्य लोग गम्भीर रूप से जख्मी हो गये। उन्हें कानपुर रेफर किया गया है। दुर्घटना के बाद चालक बस को घटनास्थल पर ही छोड़कर भाग गया। बस को कब्जे में ले लिया गया है और चालक की तलाश की जा रही है। शवों को पोस्टमाॅर्टम कराने के बाद उनके परिजनों को सौंप दिया गया है।

 पुलिस की कार्यप्रणाली से नाराज सपा विधायक ने दिया धरना

अमेठी। जिला पुलिस की कार्यप्रणाली से नाराज होकर समाजवादी पार्टी के विधायक राकेश प्रताप सिंह ने गौरीगंज कोतवाली के गेट पर धरना दिया। गौरीगंज क्षेत्र से विधायक राकेष प्रताप सिंह ने मौजूदा सरकार के शासन में अधिकारियों और कर्मचारियों के बे-लगाम होने और भू-माफिया के हावी होने का आरोप लगाते हुए शनिवार शाम गौरीगंज कोतवाली के बाहर धरना प्रदर्शन किया। विधायक ने आरोप लगाया कि गौरीगंज के नवगंवा निवासी राजाराम अपने खाते की जमीन पर मकान बना रहा है। राजस्व कर्मियो ने पैमाइश करके उसके पक्ष में रिपोर्ट भी दी है, मगर इसके बावजूद गौरीगंज पुलिस उसे तरह-तरह से परेशान कर रही है। सूचना पर आलाधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर विधायक से बातचीत की और उन्हें धरना समाप्त करने के लिये मनाने की कोशिश की। पीडित को इंसाफ मिलने के आश्वासन पर विधायक ने रात करीब डेढ़ बजे धरना समाप्त किया। विधायक का आरोप है कि प्रदेश में गरीबों के साथ अत्याचार हो रहे हैं। गरीबों की कहीं सुनवाई नहीं हो रही है। किसान आवारा पशुओं से परेशान हैं। जिले में खास कर गौरीगंज मे भू-माफिया हावी हैं।

 बसपा विधायक से मांगी एक करोड़ रुपये की रंगदारी

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी के विधायक उमाशंकर सिंह ने दावा किया है कि अन्तरराष्ट्रीय माफिया डान दाऊद इब्राहिम ने उनसे एक करोड़ रुपये की रंगदारी मांगी है और नहीं देने पर जान से मारने की धमकी भी दी गयी है। बलिया के रसड़ा क्षेत्र से विधायक सिंह ने रविवार को यहां संवाददाताओं को बताया कि बीती छह अगस्त को उनके मोबाइल पर अपना ई-मेल देखने का संदेश आया था। तब उन्होंने इसे गम्भीरता से नहीं लिया। चूंकि आमतौर पर युवा उन्हें अपना बायोडाटा भेजते हैं, लिहाजा उन्होंने सोचा कि ऐसा ही कोई ई-मेल आया होगा, जिसे वह बाद में देख लेंगे। उसके बाद आठ अगस्त को फिर से उसी नम्बर से एक संदेष मिला, जिसमें लिखा था कि “आखिरी चेतावनी, जीना या मरना, एक करोड़ रुपये”। ई-मेल देखने पर उन्हें उस पर दाऊद इब्राहीम की तस्वीर नजर आयी। ई-मेल में लिखा था कि आप बलिया के लोगों की सेवा कर रहे हैं। अगर आप इसे जारी रखना चाहते हैं तो एक करोड़ रुपये दो, वरना तुम्हारे लिये एक ही गोली काफी है। हम आपको किसी भी वक्त मार सकते हैं। बसपा विधायक ने बताया कि उन्होंने जब ट्रू-कॉलर पर उस नम्बर को डालकर देखा तो उसमें दाऊद इब्राहीम का नाम आ रहा था। विधायक ने इस मामले में लखनऊ के गोमतीनगर थाने में अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है।

वामपंथी दलों का प्रदेश स्तरीय सम्मेलन 20 को लखनऊ में

लखनऊ । वामपंथी दलों ने देष में समानुपातिक चुनाव प्रणाली एवं चुनाव सुधारों पर एक राज्य स्तरीय कन्वेन्शन आयोजित करने का निर्णय लिया है। यह कन्वेन्षन आगामी 20 अगस्त को राजधानी लखनऊ के अंतर्राष्ट्रीय बौद्ध शोध संस्थान में आयोजित किया जाएगा। कन्वेन्शन को वामपंथी दलों के राष्ट्रीय नेता भी संबोधित करेंगे। भाकपा के केन्द्रीय सचिव मण्डल के सदस्य एवं सांसद कामरेड डी. राजा, भाकपा (माक्र्सवादी) की पोलित ब्यूरो के सदस्य और पूर्व सांसद नीलोत्पल बसु, भाकपा (माले) की पोलित ब्यूरो के सदस्य कविता कृष्णन तथा फारवर्ड ब्लाक के राष्ट्रीय सचिव देवब्रत विश्वास आदि नेता प्रमुख रूप से संबोधित करेंगे। उत्तर प्रदेश के वामपंथी दलों की एक बैठक रविवार को यहां संपन्न हुयी। बैठक की अध्यक्षता भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के राज्य सचिव डा. गिरीश ने की। बैठक में तय हुआ कि सभी धर्मनिरपेक्ष दलों के प्रदेश प्रमुखों को अपने बहुमूल्य सुझाव देने के लिए कन्वेन्शन में आमंत्रित किया जाये। उनको निमंत्रण पत्र भेजा जा रहा है। कन्वन्ेषन को वामदलों के राज्य स्तरीय नेता भी सम्बोधित करेंगे।

कांवड़ लाने वाले मुस्लिम युवक को मस्जिद में नमाज पढ़ने से रोका, तीन गिरफ्तार

बागपत। जिले के रंछाड़ गांव में कांवड़ यात्रा में शामिल हुए एक मुस्लिम युवक को जुमे की नमाज के दौरान मस्जिद से कथित तौर पर निकाले जाने के मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है। जानकारी के अनुसार बिनौली थाना क्षेत्र के रंछाड़ गांव निवासी युवक बाबू खां का आरोप है कि उसे कांवड़ यात्रा में शामिल होने के कारण मस्जिद से निकाला गया। वहीं, आरोपियों का दावा है कि खां को शराब के नशे होने की वजह से मस्जिद से बाहर किया गया। उधर, पुलिस का कहना है कि दोनों पक्षों के बीच हत्या के किसी मुकदमे को लेकर पहले से ही रंजिश है। पुलिस को दी गई तहरीर के हवाले से बताया कि बाबू खां हरिद्वार से पिछले दिनों कांवड़ लाया था और मंदिरों में जलाभिषेक भी किया था। शुक्रवार को वह जुमे की नमाज अदा करने गांव की मस्जिद में गया तो कुछ लोगों ने उसे कथित तौर पर अपमानित करते हुए धक्के देकर निकाल दिया और हाथापाई तथा गाली-गलौज की। इस मामले में बाबू उर्फ लतीफ, चांद और साबिर नामक व्यक्तियों के खिलाफ शुक्रवार को मुकदमा दर्ज करके उन्हें कल गिरफ्तार कर लिया गया, जबकि एक अन्य आरोपी फरार है।

छात्र को गोलियों से भूना

गोरखपुर। बीती देर शाम तिवारीपुर थानाक्षेत्र के माधोपुर शिव मंदिर के पास बाइक सवार इंटर के छात्र राजू यादव (20) व उसके दोस्त अवधेश यादव (23) को मनबढ़ों ने गोलियों से भून दिया जिससे राजू की मौके पर मौत हो गयी, जबकि अवधेश के गर्दन में गोली लगने से वह गंभीर है। घायल अवधेश को मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया है। मृतक के परिजनों और आक्रोशित मुहल्ले के लोग हमलावरों के गिरफ्तारी की मांग करते रहे। पुलिस काफी देरे बाद शव को कब्जे में ले सकी। जानकारी के अनुसार तिवारीपुर थाने के सूरजकुंड पोखरा के पास रहने वाले सुरेंद्र यादव डेरी का कारोबार करते है। शनिवार देर शाम राजू दोस्त अवधेश यादव पुत्र हीरा लाल यादव निवासी सूर्यकुंड के साथ बाइक से बंधे पर पहुंचा। बाइक से राजू व अवधेश घर लौट रहे थे। माधोपुर शिव मंदिर के पास 3-4 की संख्या में हमलावर राजू का इंतजार कर रहे थे। बाइक सवार राजू और उसके दोस्त शिव मंदिर के पास पहुंचे ही थे कि हमलावरों ने ताबड़तोड़ फायरिंग शुरु कर दी।

सभी विश्वविद्यालयों के दीक्षान्त समारोहों की तिथियां तय 

लखनऊ। प्रदेश के राज्यपाल एवं कुलाधिपति राज्य विश्वविद्यालय राम नाईक ने सत्र 2018-19 में सम्पन्न होने वाले दीक्षान्त समारोह की प्रस्तावित तिथियाँ घोषित कर दी हैं। दीक्षान्त समारोह कैलेण्डर के अनुसार सभी विश्वविद्यालयों के दीक्षान्त समारोह 84 दिवसों में सम्पन्न होकर छात्र-छात्राओं को उपाधियाँ वितरित हो जायेंगी। राज्यपाल सभी विश्वविद्यालयों के दीक्षान्त समारोह में स्वयं भी उपस्थित रहेंगे तथा दीक्षान्त समारोह पारम्परिक भारतीय वेशभूषा में सम्पन्न होंगे। इस वर्ष पहला दीक्षान्त समारोह आगामी 24 अगस्त को मदन मोहन मालवीय प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय गोरखपुर का होना है तथा 15 नवम्बर को अंतिम दीक्षान्त समारोह इलाहाबाद राज्य विश्वविद्यालय इलाहाबाद का सम्पन्न होना है।

विदित हो कि गत वर्ष प्रथम दीक्षान्त समारोह 09 सितम्बर को ख्वाजा मुईनुद्दीन चिश्ती उर्दू, अरबी-फारसी विश्वविद्यालय लखनऊ का आयोजित हुआ था तथा 19 मई को अंतिम दीक्षान्त समारोह डाॅ. शकुन्तला मिश्रा राष्ट्रीय पुनर्वास विश्वविद्यालय लखनऊ का सम्पन्न हुआ था अर्थात् गत वर्ष कुल 253 दिवसों में सभी विश्वविद्यालयों के दीक्षान्त समारोह सम्पन्न हो सके थे। सभी विश्वविद्यालयों के दीक्षान्त समारोह भी निश्चित समय सीमा में करने के लिए प्रस्तावित कैलेण्डर घोषित किया गया है। शैक्षिक वर्ष 2018-19 में सम्पन्न होने वाले दीक्षान्त समारोह की प्रस्तावित तिथियाँ हैं- 24 अगस्त को मदन मोहन मालवीय प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय गोरखपुर, 30 अगस्त को ख्वाजा मुईनुद्दीन चिश्ती उर्दू, अरबी-फारसी विश्वविद्यालय लखनऊ, 31 अगस्त को उत्तर प्रदेश पंडित दीनदयाल उपाध्याय पशु चिकित्सा विज्ञान विश्वविद्यालय एवं गो अनुसंधान संस्थान मथुरा, एक सितम्बर को संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान लखनऊ, चार सितम्बर को महात्मा ज्योतिबा फुले रूहेलखण्ड विश्वविद्यालय बरेली, छह सितम्बर को नरेन्द्र देव कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय फैजाबाद तथा आठ सितम्बर को महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ वाराणसी, छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय कानपुर का दीक्षान्त समारोह होना तय हुआ है।

इसी प्रकार, 13 सितम्बर को सरदार वल्लभभाई पटेल कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय मेरठ, 15 सितम्बर को डाॅ. राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय फैजाबाद, 18 सितम्बर 2018 को उत्तर प्रदेश राजर्षि टण्डन मुक्त विश्वविद्यालय इलाहाबाद, 20 सितम्बर को बुन्देलखण्ड विश्वविद्यालय झांसी, 24 सितम्बर को चैधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय मेरठ,   26 सितम्बर को बांदा कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय बांदा, 28 सितम्बर को चन्द्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय कानपुर, पांच अक्टूबर 2018 को डाॅ. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय आगरा, नौ अक्टूबर को लखनऊ विश्वविद्यालय लखनऊ, 12 अक्टूबर को डाॅ. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय लखनऊ, 16 अक्टूबर को सिद्धार्थ विश्वविद्यालय कपिलवस्तु सिद्धार्थनगर, 23 अक्टूबर को भातखण्डे संगीत संस्थान सम विश्वविद्यालय लखनऊ, 26 अक्टूबर को दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय गोरखपुर, 30 अक्टूबर को किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय लखनऊ, दो नवम्बर को सम्पूर्णानन्द संस्कृत विश्वविद्यालय वाराणसी, पांच नवम्बर को वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय जौनपुर, 12 नवम्बर को डाॅ. शकुन्तला मिश्रा राष्ट्रीय पुनर्वास विश्वविद्यालय लखनऊ तथा 15 नवम्बर को इलाहाबाद राज्य विश्वविद्यालय इलाहाबाद। शेष दो विश्वविद्यालय हरकोर्ट बटलर प्राविधिक विश्वविद्यालय कानपुर एवं जननायक चन्द्रशेखर विश्वविद्यालय बलिया नवीन हैं तथा इनके छात्र अभी स्नातक स्तर तक नहीं पहुंचे हैं अतः इनका दीक्षान्त समारोह अभी सम्पन्न नहीं होना है।

छत पर सो रही किशोरी के साथ दुष्कर्म

शाहजहांपुर। जिले में छत पर सो रही एक नाबालिग के साथ तमंचे की नोक पर पड़ोसी युवक ने कथित रूप से बलात्कार किया। जिले के जलालाबाद कस्बे में बीती रात कस्बे में ही रहने वाली 17 वर्षीय किशोरी छत पर सो रही थी। रात 12 बजे पड़ोस में ही रहने वाला समीर अपने दो अज्ञात साथियों के साथ छत पर आ गया। जानकारी के मुताबिक आरोपी युवक के साथियों ने किशोरी का मुंह दबा दिया तथा जान से मारने की धमकी देते हुए तमंचा उसके लगा दिया तथा आरोपी समीर ने उसके साथ दुराचार किया। पुलिस ने मामला दर्ज कर किशोरी को चिकित्सीय परीक्षण के लिए भेजा है। आरोपी घटना के बाद से फरार है जिसकी तलाश की जा रही है।

यूपी में बन रहा गठबंधन ही बनेगा भाजपा की राह में अवरोधक-अखिलेष 

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि जैसे-जैसे लोकसभा चुनाव की तिथियां नजदीक आ रही हैं, भाजपा नेतृत्व की घबराहट बढ़ती जा रही है। उत्तर प्रदेश के उपचुनावों में भाजपा को जैसी करारी मात मिली है उससे उनके होश उड़े हुए हैं। भाजपा को लगता है कि जो गठबंधन आकार ले रहा है वह भाजपा की दिल्ली दौड़ में बड़ा अवरोधक साबित होगा और फिर से सिंहासन पर बैठने के उनके इरादों में कामयाबी नहीं मिलेगी। भाजपा उत्तर प्रदेश के चाहे जो दावा करती रहे पर जनता ने उप्र से भाजपा का सफाया करने का लक्ष्य तय कर लिया है।

सपा मुखिया ने रविवार को यहां जारी बयान में कहा कि भाजपा ने केन्द्र में चार वर्ष बिता दिए और उत्तर प्रदेश में 16 महीनें लेकिन इस अवधि में उन्होंने जनहित में कोई ऐसा काम नहीं किया जिसका उल्लेख किया जा सके। किसान तबाह है उसका न तो कर्ज माफ हुआ और नहीं उसको एमएसपी (समर्थन मूल्य) का लाभ मिलेगा। परेशान हाल किसान आत्महत्या के लिए मजबूर है। दर-दर भटक रहें नौजवानों का भविष्य अंधेरे में है। न तो उन्हें नौकरी मिल रही है और नहीं उनके भविष्य की कोई योजना सामने आ रही है। जीएसटी-नोटबंदी के बाद व्यापार चैपट है और कर्मचारियों की विभिन्न उद्योगों में छंटनी की जा रही है। मंहगाई रूक नहीं रही है। उन्होंने कहा कि जनता की समस्याओं के निदान पर सोचने के बजाय भाजपा नेतृत्व बस मुद्दांे को भटकाने की ही कवायद करता रहता है। मेरठ में भाजपा की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में सिर्फ विपक्ष को कोसने और सामाजिक नफरत की राजनीति को धार देने की ही कोशिश की गई। गरीबों, पीड़ितों, वंचितों तथा समाज के कमजोर वर्गों के लिए उसमें कोई संदेश नहीं। उन्होंने कहा कि अब अच्छे दिनों का धोखा भी सबके सामने होगा। उन्होंने कहा कि किसानों, गरीबों, और नौजवानों का गठबंधन भाजपा की केन्द्र सरकार के लिए उल्टी गिनती का खतरे का लाल संकेत है।

अपने ही बेटे की हत्या मामले में मां गिरफ्तार

बरेली। जिले के ग्रामीण क्षेत्र में एक किशोर की उसके भाई से हत्या कराने के आरोप में उसकी मां को गिरफ्तार किया गया है। बताया जाता है कि महिला ने वारदात को इसलिये अंजाम दिलाया, क्योंकि छोटे बेटे ने एक किराना दुकानदार के पुत्र से जो ढाई लाख रुपये उधार लेकर उसे दिये थे, वे वापस न करने पड़ें। जानकारी के अनुसार जिले के शीशगढ़ थाना क्षेत्र के गांव गिरधरपुर के निवासी विपिन (14) का शव पिछले साल 23 दिसम्बर को गांव के एक बाग में पड़ा मिला था। विपिन के परिजनों ने गांव के किराना दुकानदार राम अवतार मौर्य पर हत्या का आरोप लगाकर मामला दर्ज कराया था। हालांकि पुलिस को हत्या का शक परिवार पर ही था। जांच के दौरान पुलिस ने विपिन के जीजा राजेन्द्र को पिछले दिनों हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने वारदात का खुलासा कर दिया। घटना के खुलासे के बाद से गंगा देवी और उसका बेटा मानसिंह गायब थे। गंगा देवी को गिरफ्तार कर लिया गया। जबकि हत्यारे मानसिंह की तलाश अभी भी की जा रही है।

सड़क दुर्घटना में तीन युवकों की मौत

बिजनौर। जिले में हुए एक सड़क हादसे में बीती देर रात तीन युवकों की मौत हो गई। जानकारी के अनुसार नजीबाबाद के कस्बा जलालाबाद निवासी सोनू (18), शाहनवाज (18) और रईस (20) बिजनौर से प्रदर्शनी देखकर बाइक से घर लौट रहे थे तभी कबाड़ी वाला चैराहे पर सड़क पर खड़े कंटेनर से बाइक टकरा गयी। हादसे में तीनों युवकों की मौत हो गई। पुलिस ने तीनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

एक अज्ञात व्यक्ति का शव बरामद

गाजियाबाद। बिसरख थाना क्षेत्र में हैबतपुर गांव के पास हिंडन नदी में पुलिस ने रविवार को एक अज्ञात व्यक्ति का शव बरामद किया। जानकारी के अनुसार पुलिस को सूचना मिली थी कि हैबतपुर गांव के पास हिंडन नदी में एक अज्ञात व्यक्ति का शव पड़ा हुआ है। घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस आसपास के लोगों की सहायता से शव की शिनाख्त कराने का प्रयास कर रही है। पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के सही कारणों का पता लगेगा। पुलिस को आशंका है कि व्यक्ति की हत्या करने के बाद शव को नदी में फेंका गया है।

घुसपैठियों को देश में नहीं रहने देंगे, हिन्दू शरणार्थियों को देंगे नागरिकता-अमित शाह

मेरठ। अब यह साफ हो चला है कि भारतीय जनता पार्टी बांग्लादेषी घुसपैठियों के मुद्दे को पूरे देष में हवा देकर इसे अगले साल होने वाले चुनावी में इसे भुनाने की तैयारी कर ली है। पष्चिम बंगाल हो या फिर उप्र रह जगह भाजपा अध्यक्ष अमित शाह अपने भाषणों में इसी मुद्दे की पुरजोर चर्चा करने से नहीं चूक रहे हैं। उप्र भाजपा की प्रदेष कार्यसमिति की दो दिवसीय बैठक के समापन के मौके पर पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने जोर देकर कहा कि बांग्लादेशी घुसपैठियों को देश में नहीं रहने दिया जाएगा। विपक्षी दल चाहे जितना हो-हल्ला करें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार असम के 40 लाख घुसपैठियों में एक-एक को बाहर करेगी।

लोकसभा चुनाव से पहले उप्र के पार्टी कार्यकर्ताओं को चुनावी रणनीति से रूबरू कराने पहुंचे अमित शाह ने कहा कि विपक्षी दल चाहे जितना हो-हल्ला करें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार असम के 40 लाख घुसपैठियों में एक-एक को बाहर करेगी। उन्हांेने कहा कि देश में जहां-जहां घुसपैठिये हैं, उन सबको देश से बाहर जाने का रास्ता भाजपा सरकार दिखाएगी। उन्होंने कहा कि हिन्दू शरणार्थियों को देश में लाया जाएगा और उन्हें नागरिकता प्रदान की जाएगी। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार घुसपैठियों के प्रति कोई उदारता बरतने के मूड में नहीं है। उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में घुसपैठियों को शरण देने के मामले में वह कल ममता बनर्जी को चेताकर आये हैं। उन्हांेने कहा कि 2019 के चुनाव का रोडमैप उत्तर प्रदेश ही तय करेगा। यदि हम 2019 का चुनाव जीतते हैं और देश चलाने का लंबा समय मिला तो तुष्टिकरण, जातिगत भेदभाव व परिवारवाद को पूरी तरह खत्म कर दिया जाएगा। उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा कि महागठबंधन से कैसे लडना है यह पार्टी पर छोड़ दीजिए। आप लोग गली मोहल्लों तक पहुंचिए। यदि आप लोग चट्टान की तरह खड़े होकर रहेंगे तो जीत निश्चित है। उन्होंने कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि 2019 में इस तरह एकजुट होकर पार्टी के लिए काम करें कि ताकि 74 सीट का जो लक्ष्य यूपी से है, उसे हासिल कर लें।

अपने करीब 45 मिनट के भाषण में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने अपने सम्बोधन को हिन्दुत्व, दलित, पिछड़ा और कार्यकर्ताओं को पार्टी के प्रति समर्पित रहने की नसीहत देने तक सीमित रखा। उन्होंने कहा कि पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा देने का काम मोदी सरकार ने किया। इससे पहले की सरकारें सोती रहीं। उन्हें पिछड़ों और दलितों का ध्यान नहीं रहा। उन्होंने तो बस पिछड़ों और दलितों को सिर्फ वोट बैंक की तरह सत्ता हासिल करने के लिए इस्तेमाल किया। उप्र में समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के बीच होने वाले गठबंधन का जिक्र करते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि इस गठबंधन से कोई फर्क नहीं पड़ेगा। इस गठबंधन की काट यही है कि हम अपने पक्ष में मत प्रतिशत को 51 फीसद तक ले जाएं। कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस ने 55 साल में देश को बर्बाद करके रख दिया। उन्होंने कहा कि 2014 में जीरो सीट लाने वाली पार्टी (बसपा) 2019 के चुनाव में क्या कर पाएगी। सपा, बसपा व कांग्रेस पहले भी मिलकर चुनाव लड़ चुके हैं, तब भी हम उनसे ज्यादा सीट पाए थे।

Loading...

Check Also

हाईकोर्ट ने सहायक शिक्षक भर्ती परीक्षा की CBI जांच पर लगाई रोक

सहायक शिक्षक भर्ती परीक्षा 2018 की सीबीआई जांच के इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीठ के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com