मुंबई- आइसीजे के फैसले पर कहीं गणेश वंदना तो कई जगहों पर फूटे पटाखे

- in महाराष्ट्र

कुलभूषण जाधव मामले में इंटरनेशनल कोर्ट आफ जस्टिस (आइसीजे) का फैसला आने के बाद सारा देश खुशी से झूम उठा। हो भी क्यों न। पाकिस्तान को इससे मुंह की खानी पड़ी है और अब जाधव की रिहाई की उम्मीदें बलवती होने लगी हैं। जाधव के दोस्तों, पड़ोसियों व उन्हें जानने वाले लोगों ने इस फैसले पर जमकर जश्न मनाया।

आइसीजे के फैसले पर कहीं गणेश वंदना तो कई जगहों पर फूटे पटाखे

कहीं पर इसके उपलक्ष्य में गणेश वंदना हुई तो कई जगहों पर भारत माता की जय व वंदे मातरम के उद्घोष के बीच जमकर पटाखे फोडऩे के साथ जश्न मना।

आइसीजे के फैसले पर कहीं गणेश वंदना तो कई जगहों पर फूटे पटाखे

जाधव का शुरूआती जीवन परेल इलाके में बीता। परिजनों के साथ वह पुलिस क्वार्टर में रहा करते थे। किंग जार्ज स्कूल के बाद वह रुइया कॉलेज में गए और उसके बाद पुणे के खड़कवासला स्थित नेशनल डिफेंस अकादमी (एनडीए) में पहुंचे। पाक की कैद में आने से पहले तक जाधव का परिवार पवई के सिल्वर ओक अपार्टमेंट के पांचवे तल पर रहा करता था।

अब फिलहाल यहां ताला लटका है। परिवार कहीं और रह रहा है। फैसला आने के बाद

अपार्टमेंट के बाहर लोगों को हुजूम एकत्र हो गया। नारेबाजी व जयघोष के बीच जमकर पटाखे फोड़े गए। लोअर परेल में उनके बचपन के दोस्त तुलसीदास पवार ने कहा कि सत्य जीता है। यहां की पृथ्वीनंदन सोसायटी में उनके दोस्तों ने इस फैसले पर गणेश पूजन किया। बचपन में यहां रहे जाधव के दोस्तों ने एक हस्ताक्षर अभियान भी चलाया है। सिल्वर ओक अपार्टमेंट के नजदीक रहने वाले एक अमेरिकी नागरिक ने भी फैसले पर खुशी जताई। सतारा जिले के आनेवाड़ी गांव में भी खुशी का माहौल देखते बनता था। जाधव की यहां एक एकड़ जमीन है।

यह भी पढें:  जींस-टीशर्ट पहन कानपुर की सड़कों पर आइपीएस सोनिया की ‘धमाकेदार इंट्री’..

मुंबई पर हुए हमले की सुनवाई समेत कई सनसनीखेज मामलों में सरकार की तरफ से पैरवी करने वाले जानेमाने वकील उज्जवल निकम का कहना है कि यह भारत की पहली जीत है, लेकिन अभी आगे की लड़ाई बाकी है।

उनका कहना है कि नेवी अफसर को पाक ने गलत तरीके से कैद में रखकर मामला चलाया है। उसके पास केवल एक साक्ष्य है और वह जाधव का बयान, लेकिन उसे दबाव में हासिल किया गया। निकम का कहना है कि आइसीजे के फैसले के बाद सारे विश्व में पाकिस्तान बेनकाब हो गया है।

पाक सरकार के यह कहने पर कि वह आइसीजे का फैसला मानने को बाध्य नहीं है, पर निकम का कहना था कि उसकी इस तरह की झुंझलाहट भारत की मजबूत स्थित को दर्शा रही है।

 

You may also like

मशहूर सिंगर अनुराधा पौडवाल हुई धोखाधड़ी की शिकार, बिल्डर ने एक ही फ्लैट कई लोगों को बेचा

मुंबई। बॉलीवुड की मशहूर सिंगर अनुराधा पौडवाल मुंबई