Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > अयोध्या धर्मसभा की तैयारियों को लेकर RSS की बैठक, मुख्यमंत्री से भी विचार-विमर्श

अयोध्या धर्मसभा की तैयारियों को लेकर RSS की बैठक, मुख्यमंत्री से भी विचार-विमर्श

अयोध्या धर्मसभा को कामयाब बनाने में जुटे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के क्षेत्र और राष्ट्रीय स्तर के प्रमुख पदाधिकारियों ने पूरी कमान अपने हाथ में संभाल ली है। इन्होंने बुधवार को यहां निरालानगर स्थित सरस्वती शिशु मंदिर में सुबह 7 बजे से शाम तक अलग-अलग बैठकें कर अब तक की तैयारियों की जानकारी ली। अयोध्या धर्मसभा की तैयारियों को लेकर RSS की बैठक, मुख्यमंत्री से भी विचार-विमर्श

साथ ही धर्मसभा की पूरी कमान संघ परिवार के कार्यकर्ताओं और स्वयंसेवकों के हाथ में रखने का निर्देश दिया। अलग-अलग स्थानों से जाने वाले लोगों की संख्या और साधन के बारे में भी जानकारी लेते हुए  प्रांत और विभाग स्तर के पदाधिकारियों को सुझाव दिया कि अयोध्या जाने वालों को छोटे-छोटे समूहों में बांटकर ले जाया जाए। 

प्रत्येक समूह की जिम्मेदारी संघ परिवार के  किसी वरिष्ठ कार्यकर्ता को सौंपी जाए। जो ले जाने वालों का ध्यान रखने के साथ संयम भी बनाए रखे। बैठक में संघ की जमीन को और विस्तार देने तथा जडों को मजूबत बनाने पर भी चर्चा हुई। इस बीच, संघ के सरकार्यवाह सुरेश जोशी भैया जी व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बीच भी विचार-विमर्श होने की खबर है।

सूत्र बताते हैं कि अयोध्या से लौटे सरकार्यवाह भैया जी जोशी और प्रदेश के मुख्यमंत्री के बीच भी मंगलवार की देर रात बातचीत हुई। दोनों लोगों की बातचीत अयोध्या की स्थिति और धर्मसभा को लेकर ही केंद्रित रही। ध्यान रहे कि भैया जी जोशी ने सोमवार को अयोध्या में यह कहकर हलचल मचा दी थी कि रामलला का तिरपाल में यह अंतिम दर्शन है।

संघ के  सरकार्यवाह भैया जी के इस बयान के गहरे निहितार्थ निकाले जा रहे हैं। राजनीतिक गलियारों में चर्चा है कि अयोध्या मुद्दे पर कुछ न कुछ ऐसा जरूर पक रहा है जिससे मंदिर निर्माण की राह आसान हो सके। आज की बैठक में संघ का जोर अयोध्या धर्मसभा की सफलता और संघ की जमीन मजबूत बनाने के काम पर ही केंद्रित रहा।

मंदिर पर विश्वास दिलाएं
बैठक में शामिल लोगों को जनता के बीच जाकर मंदिर पर संघ परिवार के संकल्प को बताने और उन्हें मंदिर निर्माण का भरोसा देने का काम भी सौंपा गया। संघ के पदाधिकारियों ने कहा कि हिंदू समाज का जो भरोसा कायम है वह टूटने ने दिया जाए। 

स्वयंसेवकों लोगों को यह विश्वास दिलाएं कि संघ का हिंदू समाज के सरोकारों से इधर-उधर जाने का कोई सवाल ही नहीं है। संघ हिंदू समाज की सेवा के लिए संकल्पबद्ध है। लोगों को यह भी बताएं कि कुछ शक्तियां षडयंत्र पूर्वक हिंदू समाज को कमजोर करना चाहती हैं। इनसे सावधान रहने की जरूरत है।

शाखाओं से नए लोगों को जोड़ने का एजेंडा
जानकारी के मुताबिक, संघ के सरकार्यवाह सुरेश जोशी भैया जी और सह सरकार्यवाह डॉ. कृष्णगोपाल ने बैठक में शामिल पदाधिकारियों से शाखाओं के साथ उनमें आने वालों की संख्या भी बढ़ाने पर जोर दिया। 

भैया जी ने शाखा प्रमुखों, शाखा कार्यवाह, मुख्य शिक्षकों, नगर कार्यवाह, विभाग कार्यवाह को शाखाओं पर आने वाले स्वयंसेवकों का ख्याल रखने का सुझाव दिया। कहा कि कोई स्वयंसेवक यदि तीन-चार दिन शाखा पर न आए तो उससे संपर्क करें। 

यदि उसे कहीं कोई समस्या है तो उसके समधान में सहयोग करें। कहा कि जो लोग अभी शाखाओं से दूर हैं लेकिन वैचारिक रूप से हमारे समर्थक हैं उन्हें भी शाखाओं पर लाने पर ध्यान दिया जाए। बैठक में क्षेत्र प्रचारक और प्रांत प्रचारक भी मौजूद थे।

Loading...

Check Also

सच्ची शान्ति के लिए सबसे पहले एकता जरूरी : डॉ.जगदीश गांधी

सीएमएस अलीगंज (द्वितीय कैम्पस) में  एनुअल मदर्स डे एण्ड ग्रैण्ड पैरेन्ट्स डे समारोह लखनऊ : …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com