अयोध्या का दीपोत्सव 2018 गिनीज बुक ऑफ रिकार्ड में दर्ज

Loading...

अयोध्या का दीपोत्सव 2018 गिनीज बुक ऑफ रिकार्ड में दर्ज हो गया. इस उत्सव में सरयू नदी के किनारे 3 लाख एक हजार एक सौ बाबन दिए जलाने का इंतजाम किया गया था. इस मौके पर गिनीज बुक ऑफ रिकार्ड के अधिकारी अयोध्या में मौजूद थे. इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए योगी सरकार ने विशेष इंतजाम किए थे. कार्यक्रम के सफल होने के बाद गिनीज बुक के अधिकारियों ने सीएम योगी को प्रमाण पत्र सौंपा.

इस दौरान यूपी के राज्यपाल राम नाईक, लालजी टंडन और दक्षिण कोरिया की प्रथम महिला किमजोंग सुक मौजूद रहीं. इस मौके पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने ऐलान किया कि आज से फैजाबाद जिले का नाम अयोध्या कर दिया गया है. योगी ने कहा कि अयोध्या के साथ कोई अन्याय नहीं कर सकता है.

Ayodhya Deepostav 2018 enters Guinness Book of Record for lighting 3,01,152 earthen lamps, on the bank of River Sarayu. pic.twitter.com/HVZmKM63CU
— ANI UP (@ANINewsUP) November 6, 2018

सीएम योगी ने अपने इस फैसले को ‘गुड न्यूज’ करार दिया. माना जा रहा है कि लोकसभा चुनावों से पहले बीजेपी हिंदुत्व को बढ़ावा देने में जुटी है. योगी ने कहा कि हम सत्ता में इसलिए आए हैं जिससे अयोध्या के साथ कोई अन्याय न हो. हर भारतीय जानता है कि अयोध्या क्या चाहता है. हालांकि उन्होंने राम मंदिर का नाम नहीं लिया. इस दौरान यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इलाहाबाद का नाम बदलने का विरोध करने वालों को जवाब दिया. योगी ने कहा कि नाम ही हमारी गौरवमयी परंपरा से जोड़ता है, इसलिए प्रयागराज नाम क्यों नहीं होगा. योगी आदित्यनाथ ने कहा ‘लोग कह रहे हैं क्यों इलाहाबाद का नाम बदल दिया, नाम से क्या होता है? मैंने कहा तुम्हारे मां-बाप ने तुम्हारा नाम रावण और दुर्योधन क्यों नहीं रख दिया?’ इतना ही नहीं यूपी के सीएम ने विरोधियों को कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा ‘नाम का बड़ा भारी महत्व होता है. इस देश में सबसे ज्यादा नाम राम से जुड़ते हैं.
 

Loading...
loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com