अमेरिकी चुनाव में पार्टी का नाम आने पर भाजपा ने क्या कहा?

बीजेपी ने सदस्यों को चेताया, कहा-ट्रंप या बाइडेन के प्रचार में ना करें पार्टी नाम का प्रयोग
जुबिली न्यूज डेस्क
कोरोना महामारी के बीच में अमेरिका में नवंबर में राष्ट्रपति चुनाव होना है। राष्ट्रपति डोनॉल्ड ट्रप और उनकी पार्टी चुनाव प्रचार में जुट गए हैं। भारतीय समुदाय को रिझाने के लिए ट्रंप और उनकी पार्टी कोई मौका नहीं छोड़ रहे हैं। उनके बीच पैठ बनाने के लिए ट्रंप की पार्टी रिपब्लिकन अपने प्रचार अभियान में प्रधानमंत्री मोदी के वीडियो इस्तेमाल कर रही है।
ट्रंप की पार्टी रिपब्लिकन के इस कदम का भाजपा ने विरोध किया है। बीजेपी ने अपने अमेरिकी सदस्यों से साफ कर दिया है कि वे चुनाव लड़ रहे किसी भी दल- रिपब्लिकन या डेमोक्रेटिक का प्रचार अपनी निजी क्षमता पर करें और इसमें भारतीय जनता पार्टी का नाम आधिकारिक तौर पर इस्तेमाल न करें।
यह भी पढ़ें : संसदीय लोकतंत्र के लिए प्रश्न काल क्यों है अहम?
यह भी पढ़ें : कंगना-सरकार की लड़ाई राम मंदिर और बाबर पर आई
यह भी पढ़ें : बिहार चुनाव : नीतीश को बेरोजगारी के मुद्दे पर घेरने की तैयारी में राजद

Loading...

अमेरिकी चुनाव के प्रचार अभियान में रिपब्लिकन पार्टी ने भारतीय मूल के वोटरों को लुभाने के लिए जो वीडियो जारी किए हैं, उनमें ट्रंप के साथ मोदी की दो क्लिप्स भी शामिल की गई हैं। एक क्लिप पिछले साल ह्यूस्टन में हुए ‘हाउडी मोदी’  इवेंट की है, जबकि दूसरी क्लिप इस साल फरवरी में डोनाल्ड ट्रंप के अहमदाबाद में हुए इवेंट ‘नमस्ते ट्रंप’ की है।
पिछले हफ्ते ही जब ट्रंप से नए प्रचार वीडियो पर सवाल किया गया था, तो उन्होंने कहा था कि हमें भारत का समर्थन है, हमें पीएम मोदी से भी बड़ा समर्थन मिला है। मुझे लगता है कि भारतीय-अमेरिकी मेरे लिए ही वोट करेंगे।
वहीं इस मामले में बीजेपी के विदेश मामलों के विभाग के प्रमुख विजय चौथाईवाले ने ओवरसीज फ्रेंड्स ऑफ बीजेपी के अमेरिकी चैप्टर को इस बारे में पत्र लिखा है। पत्र में उन्होंने लिखा है कि वे अमेरिकी पार्टियों के लिए बीजेपी का नाम इस्तेमाल कर प्रचार न करें।
उन्होंने कहा, “यह हर नागरिक का अधिकार है कि वह अपने देश की चुनाव प्रक्रिया में हिस्सा ले। ओवरसीज फ्रेंड ऑफ बीजेपी का हर सदस्य भी इस प्रक्रिया में योगदान दे सकता है, लेकिन सिर्फ अपनी निजी क्षमता पर। भाजपा की अमेरिकी चुनाव में कोई भूमिका नहीं है।”
चौथाईवाले ने अमेरिका में भारतवंशी सीनेटर कमला हैरिस पर सवाल पूछे जाने पर कहा कि जाहिर तौर पर हर कोई इस बात से खुश है कि भारत से जुड़ा कोई व्यक्ति अमेरिका में दूसरे सबसे बड़े पद के लिए चुनाव लड़ रहा है। लेकिन भाजपा का इन चुनावों में किसी पार्टी को समर्थन नहीं है। यह हमारे सदस्यों के चुनाव पर निर्भर करता है, क्योंकि ये वहां रहने वाले लोगों की स्वायत्ता है।
यह भी पढ़ें :  शिवसेना ने अर्नब और कंगना पर साधा निशाना, लिखा- देशद्रोही और सुपारीबाज…
यह भी पढ़ें : चीनी सैनिकों की घुसपैठ की कोशिश लद्दाख तक ही सीमित नहीं : रिपोर्ट
यह भी पढ़ें :  कोरोना वैक्सीन : ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी ने क्यों रोका ट्रायल?

उन्होंने आगे कहा, “हम मानते हैं कि चुनाव किसी भी देश का घरेलू मामला है और बीजेपी की इस प्रक्रिया में कोई भूमिका नहीं है। भारत और अमेरिका के बीच गहरे कूटनीतिक रिश्ते हैं, जिसका अमेरिका और भारत में सभी समर्थन करते हैं।”
मालूम हो कि अमेरिकी चुनाव के प्रचार अभियान में रिपब्लिकन पार्टी ने भारतीय मूल के वोटरों को लुभाने के लिए जो वीडियो जारी किए हैं, उनमें राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ पीएम मोदी की दो क्लिप्स भी शामिल की गई हैं।
एक क्लिप पिछले साल ह्यूस्टन में हुए ‘हाउडी मोदीÓ इवेंट की है, जबकि दूसरी क्लिप इस साल फरवरी में डोनाल्ड ट्रंप के अहमदाबाद में हुए इवेंट ‘नमस्ते ट्रंपÓ की है। पिछले हफ्ते ही जब ट्रंप से नए प्रचार वीडियो पर सवाल किया गया था, तो उन्होंने कहा था कि हमें भारत का समर्थन है, हमें पीएम मोदी से भी बड़ा समर्थन मिला है। मुझे लगता है कि भारतीय-अमेरिकी मेरे लिए ही वोट करेंगे।

loading...
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Loading...