अमेरिका ने खोला भारत का सबसे बड़ा ये राज, पूरे देश में मचा हड़कंप

वाशिंगटन – पाकिस्तान की ओर से पिछले कुछ दिनों से लगातार हो रही घुसपैठ पर करारा जवाब देते हुए भारतीय सेना ने पाकिस्तान पर बड़ी कार्रवाई करते हुए नौशेरा सेक्टर में पाकिस्तानी सेना की पोस्ट को तबाह कर दिया। जिसके बाद दोनों देशों के बीच तनाव और बढ़ गया है। इसी बीच अमेरिका के एक शीर्ष अधिकारी ने भारत को लेकर ऐसा खुलासा किया है जिसके बाद पाकिस्तान के लिए मुश्किलें और बढ़ गई हैं। अमेरिकी अधिकारी ने कहा है कि भारत पाकिस्तान को राजनयिक रूप से अलग-थलग करने के साथ-साथ सीमा पार से जारी आतंकवाद को समर्थन देने पर कठोर कार्रवाई करने का विचार कर रहा है। India will teach lesson to Pakistan.

पाकिस्तान को सबक सिखाने पर विचार कर रहा है भारत –

विंसेंट स्टीवार्ट अमेरिका के शीर्ष अधिकारी व रक्षा खुफिया एजेंसी के निदेशक लेफ्टिनेंट जनरल हैं। जिन्होंने सीनेट की शक्तिशाली सशस्त्र समिति को विश्वव्यापी खतरों पर हो रही सुनवाई के दौरान बताया, ‘‘भारत पाकिस्तान को राजनयिक रूप से अलग-थलग करने के साथ-साथ सीमा पार से जारी आतंकवाद को समर्थन देने पर कठोर कार्रवाई करने के विकल्पों पर भी विचार कर रहा है।’’ आपको बता दें कि स्टीवार्ट ने यह बयान उस वक्त दिया जब एक दिन पहले ही भारतीय सेना ने नौशेरा में पाकिस्तानी ठिकानों को तबाह कर दिया।

स्टीवार्ट के मुताबिक, भारत हिंद महासागर क्षेत्र में खुद की स्थिति बेहतर करने के लिए अपनी सेना का आधुनिकीकरण करने के साथ-साथ एशिया में अपनी राजनयिक और आर्थिक पहुंच को भी मजबूत कर रहा है। अमेरिकी रक्षा अधिकारी के मुताबिक, ‘‘भारत में खतरनाक आतंकी हमलों की आशंका, कश्मीर में जारी हिंसा और दोनों पक्षों द्वारा एक दूसरे पर लगाये जा रहे आरोपों की वजह से 2017 में भारत और पाकिस्तान के रिश्ते और खराब होंगे।’’

भारतीय सेना ने सीमापार कर की थी सर्जिकल स्ट्राइक –

पिछले साल सितंबर, 2016 में उरी में सेना के शिविर पर पाकिस्तान से आये आतंकवादियों के हमले के बाद भारत ने पहली बार नियंत्रण रेखा पार कर आतंकियों के खिलाफ सर्जिकल स्ट्राइक की थी। स्टीवार्ट के मुताबिक, ‘साल 2016 में भारत और पाकिस्तान के बीच कश्मीर में नियंत्रण रेखा पर सालों बाद इतनी भारी मात्रा में गोलाबारी हुई थी। दोनों पक्षों के बीच तनाव इस कदर बढ़ गया की उन्होंने एक-दूसरे के राजनयिकों को निष्कासित कर दिया।’

यह भी पढ़ेंसुहागरात पर वर्जिन दिखने के लिए ये सब कर रही हैं महिलाएं…

अमेरिका एक तरफ तो भारत-पाक के बीच बढ़ते तनाव को लेकर चिंतित है, तो वहीं वह पाकिस्तानी परमाणु जखीरे के लगातार बढ़ने को लेकर भी परेशान हैं। स्टीवार्ट ने कहा है कि अमेरिका को इस बात को लेकर चिंता है। पाकिस्तान के परमाणु जखीरे का बढ़ना एक बड़ा खतरा है। स्टीवार्ट ने यह भी कहा कि, ‘पाकिस्तान अपनी परमाणु सुरक्षा में सुधार के लिए आवश्यक कदम उठा रहा है और वह इसे लेकर आतंकवादियों की ओर से उत्पन्न होने वाले खतरों को जानता है।

newstrend.news से साभार….

You may also like

सुप्रीम कोर्ट: मोबाइल-बैंक खातों से आधार जोड़ना गलत, सरकार ने नहीं की तैयारी

आधार कार्ड की अनिवार्यता को लेकर सुप्रीम कोर्ट के पांच