अभी-अभी: मायावती के सरकारी बंगले को लेकर हुआ बड़ा खुलासा

बसपा सुप्रीमो मायावती को पूर्व मुख्यमंत्री के तौर पर लाल बहादुर शास्त्री मार्ग स्थित बंगला नंबर-6 का आवंटन फर्जी आदेश से हुआ था। मायावती की ओर से दिए गए प्रत्यावेदन में बंगला नंबर-6 के आवंटन के लिए जो डिस्पैच संख्या बताई, उस नंबर पर रेखा नाम की महिला कर्मचारी को आवास आवंटित किया गया था।अभी-अभी: मायावती के सरकारी बंगले को लेकर हुआ बड़ा खुलासाराज्य सरकार ने यह तथ्य सामने आने के बाद मामले की उच्चस्तरीय जांच शुरू कराई है। यह भी जांचा जा रहा है कि पूर्व मुख्यमंत्री को आवास आवंटन का फर्जी पत्र कैसे जारी किया गया? जांच के बाद दोषी अधिकारियों व कर्मचारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जाएगी।

बसपा सुप्रीमो मायावती की ओर से 25 मई को सरकार को दिए गए प्रत्यावेदन में बताया गया था कि उन्हें मॉल एवेन्यू स्थित बंगला नंबर-13 ए और बंगला नंबर-6 आवंटित किया गया था। आखिर मायावती को दो बंगले कैसे आवंटित हुए, जब इसकी जांच शुरू हुई तो चौंकाने वाले तथ्य सामने आए।

सूत्रों के मुताबिक मायावती ने प्रत्यावेदन में जो आवंटन पत्र प्रस्तुत किया था वह 23 दिसंबर 2011 को डिस्पैच संख्या आर -7183/32-2-2011-10/2008 से जारी हुआ था। राज्य संपत्ति विभाग ने फाइलों को खंगाला तो सामने आया कि आवंटन पत्र पूरी तरह फर्जी है। जो डिस्पैच नंबर दिया गया है उस पर विभाग के रिकॉर्ड में रेखा नाम की महिला कर्मचारी को आवास आवंटित किया गया था।

आवंटन आदेश फर्जी निकलने से साफ हो गया है कि मायावती को बंगला नंबर-6 आवंटित ही नहीं था। फर्जी आदेश के कारण करीब साढ़े सात साल तक बंगला नंबर-6 उनके पास रहा। बहरहाल मायावती ने विभाग को बंगला नंबर-6 की चाबी भेजकर कब्जा सुपुर्द कर दिया है। अब बंगला नंबर-6 विभाग के कब्जे में आ गया है।

राज्य संपत्ति विभाग के रिकॉर्ड में मायावती को पूर्व मुख्यमंत्री के रूप में मॉल एवेन्यू स्थित बंगला नंबर-13 ए आवंटित है। विभाग ने मायावती को इसी बंगले को खाली करने का नोटिस दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

‘नमोस्तुते माँ गोमती’ के जयघोष से गूंजा मनकामेश्वर उपवन घाट

विश्वकल्याण कामना के साथ की गई आदि माँ