अब विकलांग छात्रों से फीस नहीं लेंगे आईआईटी

VBK-SMRITI_2245007f-300x224आईआईटी काउंसिल ने सभी विकलांग छात्रों की फीस माफ करेगी। एचआरडी मंत्री स्मृति ईरानी की अध्यक्षता वाली इस काउंसिल ने यह फैसला भी लिया है कि फीस बढ़ाने को लेकर बिना सोचे-समझे अचानक से कोई भी निर्णय नहीं लिया जाएगा।

फीस बढ़ाने पर जल्दबाजी नहीं होगी

आईआईटी काउंसिल की बैठक में एक कमेटी बनाई गई जो आईआईटी की फीस 90 हजार प्रति वर्ष से 2.5 लाख रुपये प्रति वर्ष करने के प्रस्ताव पर सुझाव देगी। स्मृति ईरानी ने जोर दिया कि हर हाल में सामाजिक और आर्थिक रूप के कमजोर तबकों के हितों की रक्षा होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि फीस में बढ़ोतरी एक संवेदनशील मामला है और इस पर जल्दबाजी नहीं की जा सकती। सभी आईआईटी फीस बढ़ोतरी के मामले को दोबारा देखेंगे।

जेईई एडवांस में 2 लाख का कोटा

आईआईटी जॉइंट ऐडमिशन बोर्ड (JAB) के जेईई ऐडवांस्ड में अपीयर होने वाले स्टूडेंट्स का कोटा 1.5 लाख से 2 लाख करने के प्रस्ताव को भी काउंसिल की स्वीकृति मिल गई है। JAB ने सितंबर के आखिरी सप्ताह में आईआईटी गुवाहाटी में हुई मीटिंग में सीट बढ़ाने का प्रस्ताव रखा था। इस बदलाव का प्रस्ताव इसलिए लाया गया क्योंकि इस साल सभी आईआईटी में करीब 200 सीटें खाली रह गईं थीं और 2016 से अधिकतर आईआईटी, स्टूडेंट्स को आईआईटी-जेईई (ऐडवांस्ड) एग्जाम से ही चुनेंगे।

कमजोर स्टूडेंट्स को मिलेगा मेंटॉर

इसके अलावा काउंसिल ने एक नई योजना PAL को भी मंजूरी दी है। इस योजना के तहत कमजोर स्टूडेंट्स को मेंटॉर किया जाएगा ताकि वे खुद को आसानी से आईआईटी सिस्टम में ढाल सकें। एक कमिटी बनाई जाएगी जो कि आईआईटी में विदेशी छात्रों के ऐडमिशन देखेगी।

 

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button