अभी अभी: सीएम योगी का सबसे बड़ा ऐलान, अब यूपी में बदलेगा वर्दियों का रंग

योगी सीएम काम करने के लिए बने हैं, ये हम नहीं कह रहे उनका काम बोल रहा है। लोगों को योगी से काफी उम्मीदें हैं और योगी उन उम्मदों पर खरा भी उतर रहे हैं। अब योगी चाहते हैं कि स्कूलों में बच्चों की पसंद की वर्दी होनी चाहिए।

अभी अभी: मोदी ने अपने बड़े नेताओं पर गिराई गाज, कहा- सबको पार्टी से निकालो बाहर, जिन्होंने..

यूपी के विकास के लिए योगी लगभग हर रोज अलग-अलग विभागों के अफसरों और मंत्रियों के साथ मीटिंग कर रहे हैं। सरकारी योजनाओं का लाभ आम जनता तक पहुंचे इसे लेकर वे बेहद गंभीर हैं। बीते दिनों बेसिक शिक्षा विभाग की हुई प्र‍ेजेंटेशन के दौरान कुछ ऐसा वाक्या घटित हुआ जिससे यह साफ़ है कि सीएम योगी जनता के लिए काम करना चाहते हैं।

दरअसल, प्रजेंटेशन के दौरान अफसरों और मंत्रियों ने ये चर्चा की कि आने वाले 100 दिनों में डिपार्टमेंट कैसे काम करेगा और स्कूलों में बच्चों की यूनिफॉर्म चेंज कर क्या रखी जाए। योगी को इम्प्रेस करने के लिए मीटिंग में पहुंचे मंत्रियों ने उन्हें अजीबोगरीब सलाह दीं। यूनिफॉर्म को लेकर पहले मंत्रियों से सलाह मांगी गई। डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि इसका रंग भगवा या फिर केसरिया होना चाहिए। वहीं, एक दूसरे मंत्री ने कहा कि पार्टी के चुनाव चिन्ह कमल के रंग को भी तरजीह दी जा सकती है। मंत्रियों की सलाह सुनकर योगी काफी देर तक शांत बैठे रहे और कोई रिएक्शन नहीं दिया।

योगी ने मांगी सलाह, अफसरों ने कहा कुछ ऐसा

योगी ने अफसरों से पूछा- कैसा हो कलर? मंत्र‍ियों की सलाह सुनकर योगी ने अफसरों का रुख किया। उन्होंने उनसे पूछा कि ड्रेस का कलर कैसा हो? इसके बाद डिपार्टमेंट के प्रिंसिपल सेक्रेटरी अजय सिंह ने अपने साथ लाए यूनिफॉर्म सैम्पल्स को योगी को दिखाया, जिसमें कई राज्यों की स्कूल यूनिफॉर्म शामिल थीं। सैम्पल में नवोदय और सेंट्रल स्कूल को भी शामिल किया गया था। सीएम ने सभी सैम्पल को ध्यान से देखा। हालांकि, वहां मौजूद किसी भी अफसर ने साफतौर पर सीएम से ये नहीं कहा कि किस राज्य की ड्रेस का कलर बेहतर है।

सीएम बोले- जो बच्चों को पसंद आए, वही कलर लेंगे। उन्होंने निर्देश दिया कि जल्द ही अगली रिव्यू मीटिंग में यूनिफॉर्म पर डिसीजन ले लिया जाएगा। मीटिंग में मौजूद सूत्रों ने बताया कि योगी ही यूनिफॉर्म पर आखिरी डिसीजन लेंगे।

बैठक में बच्चों के स्कूल बैग की डिजाइन को लेकर चर्चा की गई। बस्ते पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ही साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फोटो लगाने के प्रस्ताव पर चर्चा की गई और यह चिंतन किया गया कि इस बार सीएम की किस तरह की फोटो लगाई जाए। गौरतलब है कि पूर्ववर्ती समाजवादी पार्टी की अखिलेश सरकार ने भी बच्चों को दिए जाने वाले बैग्स पर फोटो लगाए थे। जिसकी काफी चर्चा हुई थी।

 

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button