अब तक 1063 लोग हुए संक्रमित बने 11 नए कंटेनमेंट जोन, अयोध्या में मिले छह और लखीमपुर में दो नए मामले

राजधानी लखनऊ समेत आसपास के जनपदों में  कोरोना वायरस का प्रकोप जारी है। बुधवार को 11 नए कंटेनमेंट जाेन बने, साथ ही  49 रोगियों को डिस्चार्ज किया गया। वहीं माह के पहले ही दिन 30 नए मरीजों में संक्रमण पाया गया। इसमें मीराबाई मार्ग निवासी परिवार भी है। इसके अलावा शहर के विभिन्न इलाके के मरीज है। राजधानी में 30 कोरोना पाॅजिटिव रोगी पाए गए हैं। इसमें 11 महिला व 19 पुरूष हैं। ऐसे में शहर में रोगियों की संख्या बढ़कर 1063 हो गई है। वहीं  गुरुवार कोअयोध्या में छह नए मामले आए और लखीमपुर मे दो और कोरोना पॉजिटिव केस मिले हैं।

अयोध्या में कोरोना के छह मामले 

जनपद में आज फिर आए थे कोरोना के 6 नए मरीज। एक्टिव कोरोना पाजिटिव मरीज की संख्या बढ़कर हुई 83.अमानीगंज ब्लॉक के दौरी गांव में एक ही परिवार के मिले चार कोरोना के मरीज। मया ब्लॉक के पौसरा में एक व खुशहालगंज में मिला एक कोरोना मरीज। खुशहालगंज का कोरोना मरीज भर्ती है लखनऊ के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में। बाकी पांच मरीजों को आइसोलेट व गांव को सील करने की तैयारी शुरू।

लखनऊ से आया पुलिसकर्मी पॉजिटिव 

लखीमपुर में लखनऊ से लौटे पुलिसकर्मी और एक महिला कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। डीएम शैलेंद्र सिंह ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि अधिकारियों को जरूरी कदम उठाने के निर्देश दिए गए हैं। बताया कि पॉजिटिव पुलिसकर्मी  हाल ही में अपने गृह जनपद लखनऊ से आया है। सैम्पल लेने के बाद उसे घर में ही रहने के निर्देश दिए गए थे। अब रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। 

दूसरी पॉजिटिव महिला मैगलगंज के ग्राम कैमहरा की निवासी है। अपने इलाज के लिए मेडिकल कॉलेज, लखनऊ गई थी। जहां उसकी जांच कराई गई। जिसमें वह पॉजिटिव पाई गई। वही कोविड केयर सेंटर, जगसड़ नकहा में भर्ती तीन व्यक्ति पूर्ण रूप से स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज कर दिए गए। इस प्रकार जनपद में अब तक कुल 117 पॉजिटिव केस मिले, जिनमें उपचार बाद 103 पॉजिटिव व्यक्ति पूर्ण रूप से स्वस्थ होकर डिस्चार्ज कर दिए गए और वर्तमान में कुल 14 एक्टिव केस हैं।

ठीक होकर घर पहुंचे, 14 दिन रहेंगे क्वारंटीन

लखनऊ में बुधवार को 49 रोगी कोरोना से ठीक हुए। इसमें केजीएमयू से सात, एसजीपीजीआइ से11, लोकबंधु अस्पताल से आठ, लोहिया संस्थान से तीन, आरएसएम से 17, ईएसआइ हॉस्पिट से तीन रोगी को डिस्चार्ज किया गया। वहीं शहर में11 क्षेत्रों को कंटेनमेंट जोन बनाया गया है। वहीं एक इलाका कंटेनमेंट जाेन से हटाया गया है।

13 हजार लोगों का जुुटाया स्वास्थ्य ब्योरा

अलीगंज, महानगर,त्रिवेणीनगर, विकासनगर, मडियांव, गुडंबा, आइआइएम रोड, डालीगंज में संक्रमण मुक्ति अभियान चलाया गया। इस दौरान 3263 घरों का भ्रमण किया गया। 13,075 लोगों का स्वास्थ्य ब्योरा जुटाया गया। इस दौरान कांटेक्ट ट्रेसिंग के आधार पर 328 लोगों का सैंपल जुटाया गया।

डॉक्टर ने बिना टेस्ट कोरोना मरीज को वार्ड में किया भर्ती, हड़कंप

 केजीएमयू के फॉलोअप के लिए आए कैंसर मरीज को वार्ड में भर्ती कर लिया गया। इसके बाद उसकी जांंच कराई गई। इसमें कोरोनो की पुष्टि हुई है। रिपोर्ट आते ही हड़कंप मच गया। नौ डॉक्टर-कर्मी होम क्वारंटाइन में भेज दिए गए।

केजीएमयू में मरीजों के भर्ती के नियम अलग-अलग हैं। आम मरीजों को जहां बिना जांच भर्ती नहीं की किया जाता है। वह 10 से 12 घंटे तक ट्रायएज एरिया में कराहते रहते हैं। वहीं डॉक्टर वीवीआइपी व अपने खास मरीजों को बैकडोर से भर्ती कर रहे हैं। नियमों की धज्जियां उड़ाकर वह अन्य स्टाफ की भी जिंदगी दांव पर लगा रहे हैं। ऐसे ही बीते शुक्रवार को कानपुर नवाबगंज निवासी 24 वर्षीय युवक को शताब्दी फेज-2 के रेडियोथेरेपी विभाग के पुरुष वार्ड में भर्ती कर लिया गया। उसके ब्रेन में कैंसर था। 16 मई को रेडियोथेरेपी का कोर्स पूरा हो चुका था। वहीं झटके आने की वजह से मरीज दोबारा डॉक्टर को दिखाने आया। डॉक्टर ने मरीज को वार्ड में डायरेक्ट भर्ती कर दिया गया। इसके बाद एमआरआइ जांच की आवश्यकता पड़ी, तो कोविड टेस्ट कराया गया। इसमें वायरस की पुष्टि हुई। लिहाजा, संपर्क में आए अन्य डॉक्टर, कर्मी घबरा गए। उनमें सीनियर डॉक्टर की मनमानी को लेकर आक्रोश है। प्रवक्ता डॉ. सुधीर सिंह का कहना है कि मरीज की स्क्रीनिंग कराई गई थी। वहीं टेस्ट कराने पर रिपोर्ट पॉजि टिव आ गई। मरीज को आईसोलेशन वार्ड में शिफ्ट किया गया है। तीन डॉक्टर व छह कमर्मियों को होम क्वारंटाइन में भेज दिया गया। वार्ड को सै निटाइज कराया गया है। वार्ड में भर्ती चार अन्य मरीजों के भी सैंपल जांच क लिए भेजे गए हैं।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button