अब काउंटी खेलकर खुद को आजमाएंगे, अफगानिस्तान के खिलाफ नहीं खेलेंगे टेस्ट!

- in खेल

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली इंग्लैंड दौरे से पहले काउंटी खेलकर खुद को आजमाएंगे. इस दौरान विराट ने अफगानिस्तान के खिलाफ एकमात्र टेस्ट में नहीं खेलने का मन बनाया है. टीम इंडिया इस साल इंग्लैंड दौरे में 5 टेस्ट, तीन वनडे और इतने ही टी-20 मैचों की सीरीज खेलेगी. यह दौरा तीन जुलाई से शुरू हो रहा है.

अब काउंटी खेलकर खुद को आजमाएंगे, अफगानिस्तान के खिलाफ नहीं खेलेंगे टेस्ट!बताया जाता है कि विराट जून में सरे की ओर से काउंटी खेलेंगे, ताकि इंग्लैंड में 1 अगस्त से शुरू होने वाली सीरीज में इंग्लिश पिचों पर अपनी लय पा सकें. मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर भी 1992 में यॉर्कशायर की ओर से काउंटी में उतरे थे.

दरअसल, काउंटी को प्राथमिकता देने के पीछे विराट का मकसद अपनी बल्लेबाजी को पुख्ता करना है. अब तक विराट ने इंग्लैंड की धरती पर पांच टेस्ट मैचों की 10 पारियों में 134 रन ही बनाए हैं. उनका बल्लेबाजी एवरेज 13.40 ही रहा है और उच्चतम स्कोर 39 है.

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली इंग्लैंड दौरे से पहले काउंटी खेलकर खुद को आजमाएंगे. इस दौरान विराट ने अफगानिस्तान के खिलाफ एकमात्र टेस्ट में नहीं खेलने का मन बनाया है. टीम इंडिया इस साल इंग्लैंड दौरे में 5 टेस्ट, तीन वनडे और इतने ही टी-20 मैचों की सीरीज खेलेगी. यह दौरा तीन जुलाई से शुरू हो रहा है.

बताया जाता है कि विराट जून में सरे की ओर से काउंटी खेलेंगे, ताकि इंग्लैंड में 1 अगस्त से शुरू होने वाली सीरीज में इंग्लिश पिचों पर अपनी लय पा सकें. मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर भी 1992 में यॉर्कशायर की ओर से काउंटी में उतरे थे.

दरअसल, काउंटी को प्राथमिकता देने के पीछे विराट का मकसद अपनी बल्लेबाजी को पुख्ता करना है. अब तक विराट ने इंग्लैंड की धरती पर पांच टेस्ट मैचों की 10 पारियों में 134 रन ही बनाए हैं. उनका बल्लेबाजी एवरेज 13.40 ही रहा है और उच्चतम स्कोर 39 है.

 
 

You may also like

वेस्टइंडीज के खिलाफ दो टेस्ट की सीरीज के लिए आज होगा टेस्ट टीम का चयन

भारतीय चयनकर्ता वेस्टइंडीज के खिलाफ दो टेस्ट की सीरीज के