अनिश्चित ट्रक हड़ताल शुरू : समर्थन में उतरे बस, मैजिक और वैन भी बंद

bus_stop_pithampur_1o_2015101_103655_30_09_2015पीथमपुर में महू जाने वाली बसों को भी रोक लिया गया।

 इंदौर। देशभर के टोल नाकों को हटाने की मांग को लेकर गुरुवार से ट्रकों के पहिए अनिश्चितकाल के लिए थम गए। इनके साथ बसें और अन्‍य लोक परिवहन वाहन भी नहीं चल रहे हैं। लोक परिवहन (बस, मैजिक और वैन) के चालक दुघर्टना कानून में बदलाव के विरोध में हड़ताल कर रहे हैं। साथ ही वे ट्रांसपोर्ट्स की हड़ताल को सैद्धांतिक सहमति भी दे रहे हैं। हड़ताल समर्थकों ने चार सिटी बसों को भी रोका, जानकारी मिलते ही एसडीएम मौके पर पहुंच गए।

शहर में ट्रक, बस, ऑटो और वेन की हड़ताल से लोग परेशान होते रहे। सरवटे और गंगवाल बस स्‍टेण्‍ड से एक भी बस नहीं चली। स्‍कूल वाहन भी नहीं चलने से कई विद्यार्थी स्‍कूल नहीं जा सके, तो कहीं अभिभावक बच्‍चों को स्‍कूल लेकर पहुंचे। सभी मुख्‍य चौराहों पर पुलिस तैनात रही, इस दौरान वाहनों को रोकने वालों पर भी कार्रवाई की गई। पीथमपुर में महू जाने वाली बसों को भी रोक लिया गया। जिससे यहां फैक्‍टरी और कंपनियों में काम करने वाले कर्मचारी अपने घरों तक नहीं पहुंच पाए।

ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष भीम वाधवा ने बताया बुधवार शाम परिवहन मंत्रालय के अधिकारियों से हुई हमारी आखिरी चर्चा भी बेनतीजा रही। इसलिए अब अनिश्चितकालीन हड़ताल होगी। लंबी दूरी के लिए निकले ट्रक जहां होंगे वहीं रुक जाएंगे। दूसरे प्रदेशों से गुजर रहे ट्रक किसी ढाबे या सुरक्षित स्थान पर रुक जाएंगे। उन्हें भोजन-पानी की जरूरत होगी तो हम उपलब्ध कराएंगे। इंदौर ट्रक ऑपरेटर ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष राजेंद्रसिंह त्रेहान ने बताया इंदौर में हमें बस संचालकों ने भी सैद्धांतिक सर्मथन दिया है, जिससे एक दिन यह बसें नहीं चलेंगी।

इधर, स्कूली बसें, मैजिक, सिटी वैन और रिक्शा के चालकों ने भी एक दिन की हड़ताल कर दी है। केन्द्र सरकार द्वारा दुर्घटना कानून में किए गए परिवर्तन के विरोध में ये लोग हड़ताल कर रहे हैं। अहिल्या माता बस वर्कर यूनियन ने सभी लोक परिवहन के चालकों के हड़ताल पर रहने की घोषणा की है। अध्यक्ष सौदागर सिंह ने बताया हमारी सभी लोगों से बात हो गई है। इंदौर संभाग के लिए जाने वाली सभी बसें बंद रहेंगी। चूंकि यह ड्राइवर के हित का मुद्दा है, इसलिए सब हमारे साथ हैं।

इतने वाहन हैं

ट्रक-8,000

संभाग के रूटों पर चलने बसें-1400

प्रायवेट बसें-700

स्कूल बसें-2000

ऑटो-12000

मैजिक-507

वैन-550

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button