अचानक सड़क पर गिरा युवक, कोरोना के डर से लोगों ने कर दिया…

एक तरफ बढ़ रहा कोरोना का कहर अब इतना बढ़ चुका है. कि हर तरफ केवल तवाही का मंज़र देखने को मिल रहा है. जंहा अब तक इस वायरस से मरने वालों कि संख्या 15000 से अधिक हो चुकी है. वहीं अभी भी लोगों में इस वायरस का खौफ फैला हुआ है. गुरुग्राम के राजीव चौक से झाड़सा चौक के बीच बने पेट्रोल पंप के पास एक युवक पैदल चलते हुए बेहोश होकर गिर गया. इसकी सूचना पुलिस व सिविल सर्जन को दी गई. कोरोना के डर से युवक की मदद के लिए कोई भी आगे नहीं आया. हैरत की बात यह है कि पुलिस कंट्रोल रूम को सूचना देने के 25 मिनट बाद भी कोई भी सहायता नहीं मिल पाई.

Loading...

मिलीं जानकारी के अनुसार इस बात का पता चला है कि एंबुलेंस कंट्रोल रूम 108 पर अनेक फोन करने के बाद भी फोन नहीं मिला. सिविल सर्जन जे एस पुनिया को इसकी जानकारी देने के काफी देर बाद तक कोई मदद नहीं मिल पाई. करीब 40 मिनट तक अमर उजाला के दो पत्रकारों ने सीएमओ, डीसी, पुलिस कंट्रोल रूम को कॉल किया. 40 मिनट बाद एंबुलेस कंट्रोल रूम से फोन आया कि एंबुलेस भेज रहे हैं.

जंहा यह भी कहा जा रहा है कि  कोरोना वायरस की दहशत के कारण कोई भी व्यक्ति बेहोश व्यक्ति को हाथ लगाने को तैयार नहीं था. पास से ही गुजर रही क्लाउड 9 अस्पताल की एंबुलेंस को रुकवाने का प्रयास किया, लेकिन चालक ने मरीज को ले जाने से मना कर दिया. व्यक्ति की हालत देखते हुए लग रहा था कि वह अस्पताल में भर्ती था. उसकी बाजू पर खून समेत कॉटन व निडिल के निशान है. व्यक्ति की पहचान दिल बहादुर मूल रूप से नेपाल निवासी के रूप में हुई है. रेवाड़ी से गुरुग्राम तक पैदल आ गया था. यहां उसकी हालत खराब होने के कारण बेहोश हो गया. आरएसओ मोहित शर्मा मौके पर पहुंच कर बेहोश हुए व्यक्ति को प्राथमिक उपचार देकर होश में लाए. 55 मिनट में एंबुलेस मौके पर पहुंची तो दिल बहादुर को अस्पताल ले गई.

loading...
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *