अगर हथेली में मौजूद है ऐसा चिन्ह तो बना सकता है धनवान

- in धर्म

नई दिल्ली। ज्योतिष शास्त्र एक ऐसा विज्ञान है, जो हथेली पर बने समस्त छोटे-बड़े निशानों के विस्तृत अध्ययन पर आधारित है। हथेली पर बने विभिन्न चिन्हों के अध्ययन के आधार पर ज्योतिष शास्त्र के विद्वान किसी भी व्यक्ति के भाग्य, रोग, शोक, भावी सुखों या दुखों के बारे में अनुमान लगाते हैं। 

जैसा कि पहले भी बताया जा चुका है कि हथेली पर समस्त रेखाओं के अलावा 8 प्रकार के चिन्ह होते हैं, जो किसी व्यक्ति के जीवन को गहन रूप से प्रभावित करते हैं। इसी क्रम में हमने अब तक 2 मुख्य निशानों त्रिभुज और क्रॉस के बारे में चर्चा की है। 

अभी अभी: बॉर्डर पर खून इकट्ठा कर रहा चीन, बोला- भारत…!

हथेली पर कई रंगों के बिंदु यूं तो हथेली पर कई रंगों के बिंदु पाए जाते हैं और उनका प्रभाव भी अलग-अलग होता है। जैसे सफेद बिंदु हमेशा उन्नतिकारक माने जाते हैं, वहीं लाल बिंदु व्यक्ति के रोगी होने की जानकारी देते हैं, तो पीले रंग के बिंदु जातक के शरीर में रक्त की कमी की जानकारी देते हैं। इसी तरह काले रंग के बिंदु लक्ष्मीदायक माने जाते हैं और ज्योतिष शास्त्र की गणना में इन्हीं काले बिंदुओं या तिल की हथेली पर स्थिति के आधार पर भविष्यवाणी की जाती है। 

हथेली पर कई रंगों के बिंदु यूं तो हथेली पर कई रंगों के बिंदु पाए जाते हैं और उनका प्रभाव भी अलग-अलग होता है। जैसे सफेद बिंदु हमेशा उन्नतिकारक माने जाते हैं, वहीं लाल बिंदु व्यक्ति के रोगी होने की जानकारी देते हैं, तो पीले रंग के बिंदु जातक के शरीर में रक्त की कमी की जानकारी देते हैं। इसी तरह काले रंग के बिंदु लक्ष्मीदायक माने जाते हैं और ज्योतिष शास्त्र की गणना में इन्हीं काले बिंदुओं या तिल की हथेली पर स्थिति के आधार पर भविष्यवाणी की जाती है। 

बिंदुओं या तिलों के प्रभाव पर एक नजर डालते हैं यदि तिल हथेली पर हो और मुट्ठी बंद करने पर वह अंदर समा जाता हो, तो ऐसे व्यक्ति पर लक्ष्मी का वरदहस्त रहता है। ऐसे जातक के पास कभी भी धन की कमी नहीं रहती। यदि तिल ऐसे स्थान पर हो कि वह मुट्ठी बंद करने पर हथेली के अंदर ना समाए, बल्कि बाहर ही रहे, तो ऐसे व्यक्ति के पास धन का आवागमन अच्छा रहता है, पर आने के साथ धन खर्च होता जाता है। ऐसे जातक के पास धन की कमी तो नहीं होती, पर लक्ष्मी चलायमान रहती है, टिकती नहीं है। यदि काला तिल गुरू पर्वत क्षेत्र में हो तो व्यक्ति के विवाह में बाधाएं आती रहती हैं। ऐसे व्यक्ति को प्रेम में बदनामी उठानी पड़ती है और वह जीवन में पूर्ण सफलता प्राप्त नहीं कर पाता। 

पीरियड शुरू होने पर इस एक्ट्रेस के पिता ने सबको दी थी पार्टी

गृहस्थ जीवन सदा दुखमय शनि पर्वत पर काला तिल होना किसी भी तरह शुभ नहीं माना जाता। ऐसे जातक प्रेम के क्षेत्र में बदनाम रहते हैं और उनका गृहस्थ जीवन सदा दुखमय बना रहता है। सूर्य पर्वत पर काले तिल की उपस्थिति सामाजिक प्रतिष्ठा पर आंच की सूचक होती है। ऐसे व्यक्ति समाज में अपनी साख गंवाते हैं और निंदनीय कार्य करने को बाध्य होते हैं। यदि शुक्र पर्वत पर काला तिल हो तो व्यक्ति कामी होता है और जीवन भर गुप्त रोगों से पीडि़त रहता है। पर्वत की तरह ही हाथ की रेखाओं पर भी काले तिल की उपस्थिति अपना प्रभाव छोड़ती है। यदि जीवन रेखा पर काला तिल हो तो व्यक्ति लंबे समय तक टी बी का मरीज रहता है। 

मस्तिष्क रेखा मस्तिष्क रेखा पर काला तिल होने से व्यक्ति को सिर पर गंभीर चोट लगती है और उसे मस्तिष्क संबंधी रोग भी हमेशा बने रहते हैं। यदि हृदय रेखा पर तिल हो तो व्यक्ति कमजोर हृदय का होता है। उसे हृदय संबंधी बीमारियों का खतरा बना रहता है। यदि भाग्य रेखा पर काला तिल हो तो वह जीवन को दुर्भाग्यपूर्ण बनाता है। ऐसे व्यक्ति भरपूर मेहनत के बाद भी अपना भाग्योदय नहीं कर पाते। 

उंगलियों पर भी तिल रेखाओं की तरह उंगलियों पर भी तिल पाए जाते हैं। अनामिका उंगली पर बना तिल व्यापार में असफलता देता है, वहीं कनिष्ठा पर काला तिल व्यापार का विस्तार करने नहीं देता है मध्यमा उंगली पर तिल वाले जातक को भाग्योदय के लिए भटकना बहुत पड़ता है। तर्जनी उंगली पर काला तिल होने पर व्यक्ति को नौकरी में पद त्याग करना पड़ता है। Note: हर विषय की तरह ही हथेली पर पाए जाने वाले काले तिलों का अध्ययन क्षेत्र अत्यंत विशाल है। ज्योतिष की जानकारी में रूचि रखने वाले जातकों के लिए काले तिल या बिंदुओं का यह विवरण उपयोगी और रोचक हो, यही प्रयास इस छोटे से लेख में किया गया है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

घर में एक बार इस चीज को जलाने से उदय होगा आपका भाग्य

हर इंसान पैसों के लेकर परेशान रहता हैं,