अगर आप भी अपने करियर को लेकर रहते हैं परेशान तो बैकुंठ चतुर्दशी पर करें ये काम

बैकुंठ चतुर्दशी का वर्णन शास्त्र निर्णयसिन्धु, स्मृतिकौस्तुभ व पुरुषार्थ चिंतामणि में बताया गया है। कार्तिक शुक्ल चतुर्दशी को स्वयं श्रीहरि ने वाराणसी में स्नान करके पाशुपत व्रत करके विश्वेश्वर की पूजा अर्चना की थी। श्रीहरि ने एक हजार स्वर्ण कमल पुष्पों से विश्वनाथ के पूजन का संकल्प किया। अभिषेक के बाद जब वे पूजन करने लगे तो महेश्वर ने उनकी परीक्षा के उद्देश्य से एक कमल कम कर दिया। श्रीहरि को पूजन की पूर्ति करनी थी। एक पुष्प की कमी देखकर उन्होंने अपनी कमल समान आंख चढ़ाने को प्रस्तुत किया। विष्णु की भक्ति से खुश होकर महेश्वर ने प्रकट होकर विष्णु को सर्वश्रेष्ट भक्त का वर दिया। यही कार्तिक शुक्ल चतुर्दशी बैकुंठ चतुर्दशी कहलाती है। इस दिन विधि पूर्वक जो विष्णु व शिव का पूजन करता है उसे बैकुंठ लोक की प्राप्ति होगी। दुर्घटना रहित जीवन के लिए इस दिन श्री विष्णु का नाम स्मरण करना चाहिए। बेहतर नौकरी व कैरियर के लिए बैकुंठ चतुर्दशी के दिन नतमस्तक होकर भगवान विष्णु को प्रणाम करना चाहिए व सप्त ऋषियों का आवाहन उनके नामों से करना चाहिए।अगर आप भी अपने करियर को लेकर रहते हैं परेशान तो बैकुंठ चतुर्दशी पर करें ये काम

स्पेशल पूजन विधि: घर की उत्तर-पूर्व दिशा में हरा कपड़ा बिछाकर उसपर कांसे के लोटे में जल, दूध, सिक्के, दूर्वा, सुपारी व पीपल के पत्ते पर नारियल रखकर हरिहर कलश स्थापित करें। साथ में महादेव व विष्णु का चित्र स्थापित करके विधिवत षोडशोपचार पूजन करें। कांसे के दीए में गाय के घी का दीपक करें, चंदन की धूप करें, विष्णु पर गोलोचन व महेश्वर पर चंदन से तिलक करें। कमल का फूल चढ़ाएं, मखाने की खीर का भोग लगाएं तथा जल, इत्र, शक्कर, दही से अभिषेक करें। इन विशेष मंत्रों की 1-1 माला जाप करें। पूजन के बाद भोग गाय को खिला दें।

सुबह का पूजन मुहूर्त: सुबह 08:48 से सुबह 10:52 तक।

शाम का पूजन मुहूर्त: शाम 17:02 से शाम 18:31 तक।

मध्य रात्रि पूजन मुहूर्त: रात 23:40 से रात 00:34 तक।

हरिहर पूजन मंत्र: ह्रीं हरिहर नमः॥

शिव पूजन मंत्र: ह्रीं ॐ हरिणाक्षाय नमः शिवाय॥

विष्णु पूजन मंत्र: ॐ पद्मनाभाय नमः॥

स्पेशल टोटके:
बेहतर कैरियर के लिए: विष्णु मंदिर में 10 गोल पीले फल चढ़ाएं।

सुखी दांपत्य जीवन के लिए: शिवलिंग पर चढ़ा शहद किसी सन्यासी को दान करें।

दुर्घटना से सुरक्षा के लिए: जायफल सिर से वारकर शिवलिंग पर चढ़ाएं।

गुडलक के लिए: भगवान विष्णु पर कमलगट्टे चढ़ाएं।

विवाद टालने के लिए: हरिहर कलश पर गुड़ का भोग लगाकर गाय को खिलाएं।

नुकसान से बचने के लिए: हरिहर कलश पर 12 मूंग चढ़ाकर जलप्रवाह करें।

प्रोफेशनल सक्सेस के लिए: महेश्वर पर कमल का फूल चढ़ाएं।

एजुकेशन में सक्सेस के लिए: हरा पेन हाथ में लेकर “ॐ नमः शिवाय” मंत्र का जाप करें।

फॅमिली हैप्पीनेस के लिए: संध्या के समय चंदन कपूर जलाकर हरिहर कलश की आरती करें।

लव लाइफ में सक्सेस के लिए: कच्चे सूत को केसर से रंगकर शिवलिंग पर चढ़ाएं

Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Copy is not permitted !!

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com